India builds strong ties with Islamic countries after 2014

पीएम मोदी ने दिया बड़ा बयान, कहा – भारत ने 2014 के बाद इस्लामी देशों के साथ मजबूत संबंध बनाए…

पीएम मोदी ने दिया बड़ा बयान, कहा - भारत ने 2014 के बाद इस्लामी देशों के साथ मजबूत संबंध बनाए : PM Modi gave a big statement,

Edited By: , December 3, 2022 / 06:11 AM IST

अहमदाबाद । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि 2014 में उनके प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद से भारत ने सऊदी अरब जैसे इस्लामी देशों के साथ मजबूत संबंध कायम किए हैं। गुजरात में पांच दिसंबर को दूसरे चरण के विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के अंतिम दिन मोदी ने अहमदाबाद में एक रोड शो का नेतृत्व किया और एक रैली को भी संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए दावा किया कि विपक्षी दल और उसकी सरकारों ने ‘‘परिवार, रिश्तेदारों और अपनी निजी जरूरतों’’ पर करदाताओं का पैसा बहाया।

यह भी पढ़े :  बीच हाईवे पर हुए धमाके, गोला-बारूद से भरे ट्रक में लगी आग… 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘2014 के बाद भारत ने इस्लामी देशों के साथ मजबूत संबंध कायम किए हैं। यह मेरे लिए और साथ ही हर गुजराती के लिए गर्व की बात है कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), सऊदी अरब और बहरीन जैसे देशों ने मुझे अपने शीर्ष सम्मान से नवाजा है। योग अब सऊदी अरब में आधिकारिक पाठ्यक्रम का हिस्सा है।’’ उन्होंने कहा कि बहरीन और अबू धाबी में भी हिंदू मंदिर बन रहे हैं। मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) देश को सबसे ऊपर रखती है, उसके विपरीत कांग्रेस ने हमेशा सिर्फ एक परिवार को प्राथमिकता दी। उन्होंने कहा कि 1947 में जब भारत आजाद हुआ था, तब भारतीय अर्थव्यवस्था विश्व में छठवें स्थान पर थी और 2014 में कांग्रेस आखिरी बार केंद्र में सत्ता में थी, तब तक यह 10वें पायदान पर पहुंच गई थी।

यह भी पढ़े : ‘चुनाव की तारीखों पर चर्चा करें वरना….’ यहां के पूर्व प्रधानमंत्री ने दी चेतावनी

मोदी ने कहा, “2 014 में भाजपा के सत्ता में आने और मेरे प्रधानमंत्री बनने के बाद, भारतीय अर्थव्यवस्था आठ साल में दसवें स्थान से ऊपर उठकर पांचवें पायदान पर पहुंच गई। परिवारवाद की राजनीति, घोटालों और तुष्टीकरण की राजनीति के कारण कांग्रेस ऐसा नहीं कर पाई।” 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा की 93 सीटों पर दूसरे चरण के तहत पांच दिसंबर को मतदान होगा। पहले चरण में 89 सीटों पर एक दिसंबर को मतदान हुआ था। वोटों की गिनती आठ दिसंबर को की जाएगी।