शुभेंदु अधिकारी का भाजपा कार्यकर्ताओं से पंचायत चुनावों में धांधली की कोशिशें रोकने का आह्वान |

शुभेंदु अधिकारी का भाजपा कार्यकर्ताओं से पंचायत चुनावों में धांधली की कोशिशें रोकने का आह्वान

शुभेंदु अधिकारी का भाजपा कार्यकर्ताओं से पंचायत चुनावों में धांधली की कोशिशें रोकने का आह्वान

:   November 29, 2022 / 08:22 PM IST

कोलकाता, नौ मई (भाषा) पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं से राज्य में अगले साल होने वाले पंचायत चुनावों में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की मतदान केंद्रों पर कब्जा जमाने और धांधली करने की संभावित कोशिशों का विरोध करने का आह्वान किया।

उन्होंने यह भी दावा किया कि अल्पसंख्यक समुदाय टीएमसी से नाराज है और वह बीरभूम में हुई हिंसा को नहीं भूला है तथा ग्रामीण चुनावों में यह नाराजगी दिखायी देगी।

नंदीग्राम से भाजपा विधायक शुभेंदु अधिकारी ने 2021 के विधानसभा चुनाव में इस निर्वाचन क्षेत्र में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ अपनी जीत का एक साल पूरे होने के मौके पर एक सभा को संबोधित किया। उन्होंने आरोप लगाया कि टीएमसी ने पिछले साल दो मई को चुनाव नतीजों की घोषणा होने के बाद इस क्षेत्र में हिंसा की थी। उन्होंने कहा कि नंदीग्राम के लोग ऐसे ‘‘आतंकी हथकंडों’’ से डरते नहीं हैं।

अधिकारी ने कहा, ‘‘टीएमसी के गुंडों ने चुनाव नतीजों के बाद हमारी पार्टी कार्यालयों को लूटा, हमारे कई कार्यकर्ताओं की जान ली, मकानों को लूटा तथा जलाया, लेकिन नंदीग्राम के लोगों ने जवाब दिया। अब अदालत तथा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) के हस्तक्षेप के कारण इनमें से कई हमलावर फरार हैं। प्रतिशोधी टीएमसी प्रशासन ने हमें झूठे मामलों में फंसाने की कोशिश की लेकिन वे कामयाब नहीं हुए।’’

उन्होंने टीएमसी को अगले साल के पंचायत चुनावों में ‘‘आतंकी हथकंडे अपनाने और छेड़छाड़ करने की जुर्रत’’ के खिलाफ आगाह किया।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं आपको (टीएमसी) बता रहा हूं कि अगर आपने वोटों को लूटने की जुर्रत की तो नंदीग्राम तथा अन्य जगहों पर विरोध होगा। अगर चुनावों में धांधली की गयी तो हम पेटियों (ईवीएम) को मतान केंद्रों से ले जाने नहीं देंगे।’’

भाजपा नेता ने दावा किया कि अल्पसंख्यक समुदाय टीएमसी से नाराज है क्योंकि ‘‘उन्हें पता चल गया है कि ममता बनर्जी की सरकार ने तुष्टिकरण की राजनीति करते हुए केवल उनका इस्तेमाल किया और उनके फायदे के लिए कोई भी काम नहीं किया।’’

विपक्ष के नेता ने कहा कि पंचायत चुनावों के मद्देनजर कई राजनीतिक कार्यक्रम किए जाएंगे। नंदीग्राम में चुनाव के बाद हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता देबब्रत मैती की प्रतिमा का 13 मई को अनावरण किया जाएगा।

अधिकारी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए टीएमसी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा, ‘‘वह जानते हैं कि राज्य के लोगों ने भाजपा को नकार दिया है। आने वाले दिनों में नंदीग्राम के लोग शुभेंदु को सबक सिखाएंगे। वह केंद्रीय एजेंसियों से अपने आप को बचाने के लिए भाजपा में शामिल हो गए थे। नंदीग्राम के लोग जानते हैं कि वह अवसरवादी हैं।’’

भाषा गोला मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers