केरल में कांग्रेस, वाम शासन में आतंकवाद को संरक्षण मिला: अमित शाह |

केरल में कांग्रेस, वाम शासन में आतंकवाद को संरक्षण मिला: अमित शाह

केरल में कांग्रेस, वाम शासन में आतंकवाद को संरक्षण मिला: अमित शाह

:   Modified Date:  April 24, 2024 / 04:45 PM IST, Published Date : April 24, 2024/4:45 pm IST

अलाप्पुझा (केरल), 24 अप्रैल (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने केरल में कांग्रेस और सत्तारूढ़ वाम दल पर बुधवार को जमकर निशाना साधा और उन पर राज्य में आतंकवाद को संरक्षण देने तथा लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए प्रतिबंधित संगठन ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ (पीएफआई) का समर्थन लेने का आरोप लगाया।

शाह ने आरोप लगाया कि केरल में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा)-नीत वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) और कांग्रेस-नीत संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) के शासन के दौरान वर्षों से राज्य में आतंकवाद को संरक्षण दिया गया।

उन्होंने कहा कि राज्य में अल्पसंख्यक वोट-बैंक का समर्थन हासिल करने के लिए वाम दल और कांग्रेस दोनों ने पीएफआई का समर्थन किया।

शाह ने आरोप लगाया कि पीएफआई की राजनीतिक शाखा ‘सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया’ (एसडीपीआई) ने खुलेतौर पर केरल में कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ को अपना समर्थन देने की घोषणा की, वहीं एलडीएफ पीएफआई पर प्रतिबंध पर चुप है।

शाह ने दावा किया कि कांग्रेस को जमात-ए-इस्लामी हिंद द्वारा समर्थित राजनीतिक संगठन ‘वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया’ का भी समर्थन प्राप्त है, जबकि वामपंथियों को पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) का समर्थन प्राप्त है, जिसका नेतृत्व अब्दुल नजर महदानी करते हैं। महदानी 2008 बेंगलुरु सिलसिलेवार विस्फोट मामले में आरोपी हैं।

उन्होंने अलाप्पुझा लोकसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार शोभा सुरेंद्रन के पक्ष में प्रचार किया।

शाह ने चुनावी रैली में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश को पीएफआई जैसे संगठनों से बचाने के लिए काम कर रहे हैं।’’

उन्होंने 2021 में भाजपा के अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा के नेता रंजीत श्रीनिवासन की उनके घर में हुई हत्या और अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्याओं का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि ये हत्याएं पीएफआई जैसे आतंकवादी समूहों द्वारा की गईं।

शाह ने कहा कि जब तक मोदी सरकार सत्ता में है पीएफआई पर प्रतिबंध जारी रहेगा और उसे देश में कहीं से भी संचालन की अनुमति नहीं मिलेगी।

उन्होंने वाम दल के घोषणापत्र में देश में सभी परमाणु हथियारों को नष्ट करने संबंधी चुनावी वादे को लेकर भी वाम दल पर हमला किया और कहा कि एलडीएफ नहीं चाहता कि भारत परमाणु शक्ति बने।

उन्होंने कहा, ‘‘भारत परमाणु ताकत रहेगा और इसकी राष्ट्रीय सुरक्षा से कोई खिलावाड़ नहीं होगा।’’

शाह ने करोड़ों रुपये के करुवन्नूर सहकारी बैंक घोटाले का जिक्र करते हुए भी वाम दल पर निशाना साधा।

भाजपा नेता ने कांग्रेस पर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और केरल के मुख्यमंत्री के खिलाफ ऐसे घोटालों और अन्य भ्रष्टाचार के आरोपों पर चुप रहने का आरोप लगाया।

शाह ने कांग्रेस और वाम दल पर भी हमला किया और कहा कि ये दल केरल और पश्चिम बंगाल में एक-दूसरे से लड़ने का दिखावा करते हैं, जबकि देश के अन्य हिस्सों में वे साथ हैं।

केन्द्रीय गृहमंत्री ने दावा किया कि दुनिया और भारत में कम्युनिस्ट खत्म हो गए हैं और इसी तरह देश में कांग्रेस का भी पतन हो रहा है।

उन्होंने दावा किया, ‘‘यह भाजपा का वक्त है।’’

भाजपा नेता ने कहा कि इस बार का लोकसभा चुनाव मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने और केरल को हिंसा से मुक्त कराने के लिए है।

उन्होंने कहा, ‘‘केवल मोदी ही केरल और भारत की रक्षा कर सकते हैं। केवल वही केरल और भारत में विकास सुनिश्चित कर सकते हैं।’’

उन्होंने दावा किया कि सभी सर्वेक्षणों से संकेत मिल रहे हैं कि पूरा केरल मोदी के साथ है।

राज्य में 26 अप्रैल को मतदान होना है और आज प्रचार का आखिरी दिन है। शाह अलाप्पुझा रिक्रिएशन ग्राउंड के हेलीपैड पर एक हेलीकॉप्टर से पहुंचे और वहां से सड़क मार्ग से रैली स्थल पुन्नप्रा कार्मेल ग्राउंड गए।

भाषा शोभना सुरेश

सुरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers