कारोबारी के परिजनों ने उपमुख्य सचेतक और अन्य पर हत्या करवाने का आरोप लगाया |

कारोबारी के परिजनों ने उपमुख्य सचेतक और अन्य पर हत्या करवाने का आरोप लगाया

कारोबारी के परिजनों ने उपमुख्य सचेतक और अन्य पर हत्या करवाने का आरोप लगाया

:   November 29, 2022 / 09:00 PM IST

जयपुर, 15 मई (भाषा) राजस्थान के नागौर जिले के नावां शहर में शनिवार को अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मार कर हत्या किये जाने के मामले में मृतक के परिजनों ने सरकारी उपमुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी और अन्य लोगों पर हत्या में शामिल होने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इसकी जानकारी दी ।

पुलिस ने बताया कि परिवार की शिकायत के आधार पर चौधरी और सात अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) 120 (बी) और अन्य संबंधित धाराओं के तहत नावां पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि मृत नमक कारोबारी जयपाल पूनियां की पत्नी की ओर से दर्ज प्राथमिकी में उन्होंने आरोप लगाया कि उपमुख्य सचेतक और नांवा विधायक महेन्द्र चौधरी, उनके भाई मोती सिंह चौधरी, मूलचंद सैनी, विरेन्द्र सैनी और अन्य लोगों ने उनके पति की हत्या की है।

चौधरी ने आरोपों को बेबुनियाद और राजनीति से प्रेरित बताया।

वहीं राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) के नेता और नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि करीब आधा दर्जन बदमाशों ने नमक कारोबारी जयपाल पूनियां की कार को रोककर उनपर गोलीबारी कर उन्हें खून से लथपथ छोड दिया और मौके से फरार हो गये, जिससे उनके शरीर से बहुत खून बह गया।

पुलिस के अनुसार मृतक के खिलाफ भी मई आपराधिक मामले दर्ज थे।

दर्ज प्राथमिकी में मृतक की पत्नी ने कहा, ‘‘ मेरे पति शनिवार को अदालत के लिये सुबह 10.30 बजे घर से निकले लेकिन 11 बजे यह कहकर लौट आए कि मामले की सुनवाई दोपहर 12.30 बजे होगी। दोपहर के भोजन के दौरान उन्होंने बताया कि विधायक और अन्य उनके खिलाफ साजिश कर उन्हें झूठे मामले में फंसाने की कोशिश कर रहे है। उन्हें धमकियां मिल रही है और उन्हें मारा भी जा सकता है।’’

चौधरी ने आरोपों पर टिप्पणी करते हुए कहा, ‘‘सभी आरोप निराधार है और राजनीति से प्रेरित है।’’

नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की। उन्होंने ट्वीट किया,’इस तरह की घटना पुलिस के खत्म होते इकबाल व अपराधियों में खत्म हो रहे कानून के खौफ को दर्शाता है।’

सांसद के अनुसार, ‘नावां, कुचामन आदि स्थानों पर पुलिस के अधिकारी स्थानीय विधायक व उनके परिवार के साथ मिलकर समानांतर सरकार चला रहे है जिसका परिणाम यह है की वहां जघन्य अपराधों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है!’

बेनीवाल के अनुसार उन्होंने इस मामले को लेकर राज्य के पुलिस महानिदेशक, अजमेर के पुलिस महानिरीक्षक व नागौर के जिला पुलिस अधीक्षक से फोन पर बात की है।

भाषा कुंज रंजन

रंजन

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers