यूक्रेन रेस्क्यू में उतारा ग्लोबमास्टर; क्या है UP चुनाव से कनेक्शन ?

यूक्रेन में फंसे लोगों को लेकर विपक्ष ने लगाए आरोप केंद्र सरकार पर हमला शुरू मोदी ने सभा में दी सफाई

Written By: , March 10, 2022 / 12:15 PM IST

आज हम बात करने जा रहे हैं रूस यक्रेन युद्ध के यूपी चुनाव से कनेक्शन की…यूपी के चुनाव का आखिरी चरण आने वाला है और यहां रूस- यूक्रेन का युद्ध भी मुद्दा बन चुका है….यूपी के चुनाव में प्रचार के मुद्दे हर चरण में बदल रहे हैं…पहले विकास फिर गुण्डाराज फिर जाति और धर्म चुनाव के लिए मुद्दा बना अब यूक्रेन का मुद्दा भी छा गया है…7 मार्च को अंतिम चरण का मतदान यूपी में होना है और अब मतदान से पहले चुनावी चर्चा के लिए वायुसेना का सबसे बड़ा जहाज ग्लोबमास्टर भी मैदान में उतर गया है… जी हां यूक्रेन का जिक्र हो और विरोधी जब उसमें सरकार को घेरने की तैयारी में जुट गए हों तो फिर बचने के लिए भारी भरकम जहाज तो लगाना ही पड़ेगा….

Read More: यूक्रेन में भारत ब्लैकमेल हो रहा? भारतीयों के साथ हुई साजिश?

यूपी चुनावों में छठवें चरण के मतदान (Sixth Phase Election) के लिए प्रचार खत्म हो चुका है….3 मार्च को यहां 57 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे… लेकिन अब आखिरी चरण के लिए जहां मतदान होना है उन स्थानों पर जोर शोर से प्रचार चालू हो गया है….
सभी राजनीतिक दलों ने अपने सारे हथियार निकाल लिए हैं और मैदान में कूद पड़े हैं…. वे पूरी ताकत लगा रहे है…ताकि नतीजों को अपने पक्ष में किया जा सके… अंतिम चरण में मतदान 7 मार्च को होगा…तो दलों के पास प्रचार के लिए नेता से लेकर मुद्दों तक जो कुछ भी मौजूद है उनका इस्तेमाल हो रहा है…लेकिन विपक्ष के रूख को देखकर लगता है कि सातवें चरण के चुनाव में रूस – यूक्रेन युद्ध की भूमिका बड़ी होने जा रही है…मोदी सरकार के कामकाज को लेकर अब तक विपक्ष बैकफुट पर ही दिखता था लेकिन यूक्रेन में केंद्र सरकार वैसी सफलता नहीं पा सकी है जैसी अपेक्षा की गई थी…भारतीयों को निकालने में यूक्रेन की सरकार भी रूचि नहीं दिखा रही है…

जाहिर है ऐसे में रूस यूक्रेन युद्ध मे फंसे भारतीयों की भी बात विपक्ष उठाएगा…छठवें चरण चुनाव के प्रचार में प्रधानमंत्री ने दावा किया था कि यूक्रेन से भारतीयों को निकालने के लिए सरकार ठोस कदम उठा रही है….लेकिन विपक्ष ने अब सरकार को घेरना शुरू किया और बताया कि रेस्क्यू की रफ्तार धीमी है…रोज मात्र दो ढाई सौ लोगों को निकाला जा रहा है तो बीजेपी की केंद्र सरकार ने आरोपों से बचने ऑपरेशन गंगा में बाकी विमानों के साथ ही वायुसेना के C-17 Globemaster विमान (Boeing C-17 Globemaster) को भी रेस्क्यू में लगा दिया है….बताया गया है कि इसमें एक साथ चार सौ लोगों को बिठाया जा सकता है हालांकि अफगान संकट के समय अमेरिका ने अपने इसी सी-17 ग्लोबमास्टर विमान से एक बार में 8 सौ अमेरिकी लोगों को सुरक्षित निकाला था।

Read More: रूसी वीटो से दुनियां नाराज, UN में खत्म होगा वीटो पॉवर

तो यूपी में आखिरी मौका है प्रचार का और विपक्ष ने यूक्रेन को बड़ा मुद्दा बनाना शुरू कर दिया है….सरकार पर भारतीयों को लाने में विफल होने के आरोप लग रहे हैं…तो यूपी के बाकी सारे मुद्दे पिछड़ते भी नजर आ रहे हैं…पिछले कुछ दिनों से यूपी चुनाव की खबरें मीडिया से लगभग गायब ही हैं और रूस यूक्रेन युद्ध की खबरें ही पूरे समय चल रही हैं ऐसे में विपक्ष को भी इस मुद्दे को चुनाव के बीच लाना पड़ा है…कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सरकार पर “प्रभावी कदम नहीं उठाने” और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी पर इस “लापता” रहने का आरोप लगाया है…वैसे जानकारी ये मिली है कि उत्तर प्रदेश के करीब साढ़े 3 सौ लोग भी यूक्रेन में फंसे हैं। विपक्ष ने ऑपरेशन गंगा का जिक्र चुनावी प्रचार में करने के लिए प्रधानमंत्री की आलोचना भी की है…
इधर सातवें चरण के चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोनभद्र की सभा में एक बार फिर इसका जिक्र किया और कहा कि ऑपरेशन गंगा के तहत कई हजार नागरिकों को देश वापस लाया जा चुका है… बदलते हुए समय में भारत को और ज्यादा ताकतवर बनना होगा और जो लोग आत्मनिर्भर भारत अभियान का मजाक उड़ाते हों, जो भारत की सेनाओं के अपमान करते हों, वो घोर परिवारवादी लोग भारत को कभी ताकतवर नहीं बना सकते…
तो अब यूपी चुनाव में भारतीयों का यूक्रेन में फंसना विपक्ष के काम आता है या फिर मोदी सरकार किसी बड़े मास्टर स्ट्रोक का इस्तेमाल चुनाव के ठीक पहले करती है यह देखना होगा…

Read More: यूक्रेन में रूस ने अमरीका को फंसाया; चीन को भी उसकी औकात दिखाई