छिंदवाड़ा विवि का नाम होगा राजा शंकरशाह विवि, सिकल सेल बीमारी का मुफ्त इलाज करवाएगी सरकार : सीएम शिवराज

CM Shivraj Singh chauhan ने कहा कि राजा शंकरशाह रघुनाथ शाह की याद में छिंदवाड़ा विवि का नामकरण किया है।

Edited By: , September 18, 2021 / 02:29 PM IST

जबलपुर। मध्यप्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में आयोजित जनजातीय नायक राजा शंकरशाह रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह ने कई बड़े ऐलान किए हैं। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री शिवराज ने छिंदवाड़ा विवि का नामकरण राजा शंकरशाह विश्वविद्यालय के नाम रखने की घोषणा की। सीएम ने कहा कि राजा शंकरशाह रघुनाथ शाह की याद में छिंदवाड़ा विवि का नामकरण किया है।

Read More News:  क्रॉप टॉप और टाइट ड्रेस नहीं पहनोगी और न ही स्‍नैपचैट लोकेशन बंद नहीं करेगी, बॉयफ्रेंड ने गर्लफ्रेंड के लिए बनाए कड़े रूल्स

सीएम ने सिकल सेल बीमारी का मुफ्त इलाज करवाने, आदिवासी क्षेत्रों में स्मार्ट क्लास लगाने की घोषणा की है। सीएम ने कहा कि NEET,JEE की तैयारी के लिए आदिवासी क्षेत्रों में क्लास लगाएंगे। हर पंचायत में 4 ग्रामीण इंजीनियर ट्रेंड किए जाएंगे।

इसके अलावा 1 साल के अंदर बैकलॉग के पद भरने अभियान चलाने। पशु पालन के लिए एकीकृत योजना बनेगी। सीएम ने कहा कि आदिवासियों को आर्थिक रूप से उन्नत बनाएंगे। इस दौरान सीएम ने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि कांग्रेस ने सिर्फ आदिवासियों को छला और धोखा दिया है। जबकि बीजेपी ने सबका विकास किया है।

Read More News: पुलिस भी रह गई हैरान, जब एक मकान में फांसी पर लटकती मिली 4 लोगों की लाश, बच्ची सहित पांच की मौत

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि सरकार देव अरण्य योजना चलाएगी। वनोपज की सप्लाई चैन बनाएगी। सरकार आदिवासी हित में पेसा एक्ट लागू करेगी। इससे ग्राम पंचायतों को पेसा एक्ट से मजबूती मिलेगी। पेसा एक्ट पांचवीं अनुसूची के तहत लागू होगा। प्रदेश में पेसा ग्राम सभाओं का गठन किया जाएगा। जिसमें अपने विकास की योजनाएं पेसा ग्राम सभाएं बना सकेंगी।

Read More News: बायो डीजल पर GST में कटौती, ऑनलाइन खाना मंगाना पड़ेगा महंगा, जानिए GST काउंसिल की बैठक में लिए गए अहम फैसले

राजा शंकरशाह रघुनाथ शाह बलिदान दिवस कार्यक्रम में CM शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने आजादी के इतिहास में कुछ लोगों का ही इतिहास पढ़वाया। वो शंकरशाह रघुनाथशाह जैसे जननायकों को भूल गए। प्रदेश सरकार हर साल शंकरशाह रघुनाथशाह बलिदान दिवस मनाएगी। सिर्फ BJP सरकारों ने जनजातीय कल्याण के काम के लिए जनजाति आयोग और विभाग बनवाये हैं।

Read More News:  वायरल बुखार एवं डेंगू से यहां अब तक 60 से अधिक की मौत, मृतकों में अधिकांश बच्चे

 

जिसमें वनबंधु कल्याण योजना जैसी तमाम योजनाएं आदिवासियों को समर्पित है। BJP सरकार ने ही आदिवासियों को वनाधिकार पट्टा दिया है। सीएम ने आगे कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार ने आदिवासी कल्याण की कई योजनाएं। कांग्रेस जनजातियों के नाम पर घड़ियाली आंसू बहा रही है। 15 माह की कांग्रेस सरकार ने आदिवासियों के लिए कुछ काम नहीं किया। हम तो विदेशों में भी आदिवासी बच्चों को पढ़ा रहे।