PTRI prepared accident report: इस वजह से खलघाट नर्मदा नदी में हुआ हादसा

इस वजह से खलघाट नर्मदा नदी में हुआ हादसा, गई थी 13 लोगों की जान, PTRI रिपोर्ट में हुआ खुलासा

PTRI prepared accident report: इस वजह से खलघाट नर्मदा नदी में हुआ हादसा, गई थी 13 लोगों की जान, PTRI रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Edited By: , August 8, 2022 / 06:08 PM IST

PTRI prepared accident report: भोपाल। इंदौर से पुणे जा रही महाराष्ट्र सरकार की जिस बस से खलघाट नर्मदा नदी में गिरने से जो हादसा हुआ, उस पर पीटीआरआई (पुलिस ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट) ने रिपोर्ट तैयार की है। पीटीआरआई रिपोर्ट की मानें तो पुल शुरु होने से पहले दोनों तरफ पुल के मुहाने पर रंम्बलर स्पीड ब्रेकर नहीं थे। यानि कि रंम्बलर ऐसे ब्रेकर होते हैं, जो स्पीड को कंट्रोल करते हैं। दूसरा सबसे बड़ा बिंदु यह कि पुल कई वर्षो पुराना है।

ये भी पढ़ें- ‘काट दूंगा आपके घर की बिजली’.. शातिर ठगों ने अकाउंट से उड़ाए लाखों रुपए

PTRI prepared accident report: पुल पर क्रॉस वैरियर होना चाहिए, जिससे यदि इस तरह के हादसे हों, तो वाहन क्रॉस वैरियर से टकराकर रुक जाए। रिपोर्ट का तीसरा बिंदु यह कि जब पुल सालों पुराना था, तो उस पर संकेतक चिन्ह होना चाहिए थे, जो एक भी संकेतक चिन्ह नहीं हैं। पीटीआरआई एडीजी जी-जर्नादन और एआईजी मनोज राय ने यह रिपोर्ट घटनास्थल का दो बार दौरा करने के बाद (एनएचआई) के अधिकारियों के साथ मिलकर तैयार की है।

ये भी पढ़ें- इस SDM के आदेश से मचा सियासी बवाल, अब हो रही SDM को हटाने की मांग? जानिए क्या था आदेश

PTRI prepared accident report: एडीजी पीटीआरआई जी-जर्नादन ने कहा कि यह रिपोर्ट तैयार कर संबंधित जिले के एसपी और कलेक्टर को भेज दी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक पुल पर फिर से कोई हादसा न हो, इसके लिए इन कमियों को पूरा किया जाए। बता दें कि पिछले महीने 18 जुलाई को यह हादसा हुआ, जिसमें 13 यात्रियों की मौत हो गई थी। एक भी यात्री जिंदा नहीं बचा था। लेकिन इन 13 मौत का जिम्मेदार कौन रहा, यह अभी तक सामने नहीं आ सका है।

ये भी पढ़ें- कांग्रेस को पसंद आया बीजेपी का ये फॉर्मूला, जल्द करने जा रही लागू

PTRI prepared accident report: सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए ऐसे हादसों को लेकर केंद्र सरकार के निर्देश है कि जिस राज्य में बड़े हादसे हों, यानि कि तीन से अधिक मौत। तो उस राज्य के पीटीआरआई से पुलिस अफसर मौके पर जाकर रिपोर्ट तैयार करें और हादसों पर लगाम कसने क्या किया जाए। उस पर रिपोर्ट बनाकर संबंधित एजेंसियों को अवगत कराएं। इधर, परिवहन विभाग कछुआ चाल चलते यह साबित नहीं कर सका कि बस में क्या खामियां थी। बस को लेकर परिवहन विभाग ने अभी तक रिपोर्ट पेश नहीं की है।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें