‘यह हादसा नहीं, बल्कि मुझे जान से मारने का षड्यंत्र था’, कार और ट्रक में टक्कर के बाद बोले कम्प्यूटर बाबा

‘यह हादसा नहीं, बल्कि मुझे जान से मारने का षड्यंत्र था’, कार और ट्रक में टक्कर के बाद बोले कम्प्यूटर बाबा

Edited By: , October 19, 2021 / 07:19 AM IST

बुरहानपुर (मध्य प्रदेश), 18 अक्टूबर (भाषा) कंप्यूटर बाबा के नाम से मशहूर स्वयंभू संत नामदेव दास त्यागी की कार का सोमवार को मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में इंदौर-इच्छापुर राजकीय राजमार्ग पर एक ट्रक से टक्कर हो गया। बाबा ने इस घटना को उन्हें जान से मारने की साजिश बताया है।\ पुलिस ने बताया कि इस हादसे में कंप्यूटर बाबा एवं उसके वाहन चालक को कोई चोट नहीं आई है, जबकि बाबा ने दावा किया कि वह इस हादसे में घायल हुए हैं।

इसके अलावा, बाबा ने आरोप लगाया, ‘‘यह हादसा नहीं, बल्कि मुझे जान से मारने का षड्यंत्र था और इसकी जांच होनी चाहिए।’’ वह 30 अक्टूबर को मध्य प्रदेश में लोकसभा की एक एवं विधानसभा की तीन सीटों पर होने वाले उपचुनाव में विपक्षी दल कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं।

read more: झारखंड में 10 लोगों ने नाबालिग बहनों से किया बलात्कार, दो गिरफ्तार

निंबोला पुलिस थाने के उपनिरीक्षक बाल कृष्ण पटेल ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक से कंप्यूटर बाबा के वाहन की बुरहानपुर जिला मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर दूर झिरी क्षेत्र में टक्कर हो गई। लेकिन, इस हादसे में न तो बाबा और न ही उनके कार चालक को कोई चोट आई है।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘बाबा के साथ इस वाहन में मौजूद दो अन्य लोगों को दुर्घटना में मामूली चोटें आई हैं। लेकिन, बाद में वे भी बाबा के साथ जोबट के लिए रवाना हो गए।’’

पटेल ने बताया कि बाबा के कार चालक विवेक जोशी की शिकायत पर हमने ट्रक चालक रवि नायक (30) के खिलाफ भादंवि की धारा 279 और 337 में प्राथमिकी दर्ज कर ली है। कांग्रेस के एक नेता के मुताबिक हादसे के वक्त बाबा कांग्रेस उम्मीदवार के लिए समर्थन जुटाने जा रहे जोबट जा रहे थे। जोबट विधानसभा सीट पर 30 अक्टूबर को उपचुनाव होना है।

read more: कोविड-19 : हरियाणा में 76.3 फीसदी लोगों में मिली एंटीबॉडीज

हादसे के बाद बाबा सड़क पर पड़े नजर आए। इसके कुछ समय बाद बाबा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे शक है कि षड़यंत्र के तहत मुझे जान से मारने का यह प्रयास था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे भी चोटें आई हैं। मैं उठ-बैठ नहीं पा रहा हूं। मैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से इस हादसे की जांच की मांग करता हूं। धार्मिक लोगों के साथ इस तरह की घटना उचित नहीं है।’’