पीने के पानी के लिए जद्दोजहद, आज भी कुएं से गंदा पानी भरने को मजबूर यहां के लोग, हवा से पानी बनाने की मशीन भी दे गई जवाब

Struggling for drinking water, even today the people here are forced to fill dirty water from the well, the machine

Edited By: , May 23, 2022 / 11:18 PM IST

बुंदेलखंड । बुंदेलखंड में पानी की समस्या आज भी जस की तस है कई इलाकों में पानी के लिए त्राहि-त्राहि मची रहती है। ऐसे में चार साल पहले दमोह के हरदुआ मानगढ़ गांव में हवा से पानी बनाने की मशीन लगाई गई थी लेकिन महज कुछ ही महीने में मशीन जवाब दे गई। हालात ये हैं कि गांव की महिलाएं 1-2 किलोमीटर पैदल जाकर गहरे कुएं से गंदा पानी भरने को मजबूर हैं।

Read more :  कपड़े देने को तैयार नहीं बड़े ब्रांड, सनी लियोनी ने बताई अपनी पीड़ा

तस्वीरों में दिख रही ये कोई मामूली मशीन नहीं है बल्कि इस मशीन को इस दावे के साथ लगाया गया था कि ये हवा से पानी बनाएगी। हवा से पानी पानी तो छोड़िए मशीन से हवा भी नहीं निकल रही है। जिसके चलते दमोह जिले की हरदुआ मानगढ़ पंचायत में जलसंकट गहरा गया है। दरअसल, स्थानीय सांसद और केंद्रीय जलशक्ति राज्य मंत्री प्रह्ललाद पटेल ने 4 साल पहले करीब 16 लाख की लागत से इस मशीन को लगवाया था।

Read more :  आसमान से आ रही आफत! धरती की तरफ बढ़ रहा कुतुब मीनार से 24 गुना बड़ा एस्टेरॉयड, नासा ने कही ये बात 

उस समय हवा से पानी बनाने वाली मशीन लगने की खबर ने खूब सुर्खियां भी बटोरी थी। उम्मीद थी कि अब गांव को पेयजल संकट से छुटकारा मिल जाएगा लेकिन लेकिन 5-6 महीने बाद ही मशीन ने काम करना बंद कर दिया। पंचायत ने इसकी शिकायत PHE और सांसद से भी की। दलील ये दी गई कि मशीन को इजरायल से ट्रायल के लिए लाया गया था। आलम ये है कि पीने के पानी के लिए गांव के लोगों को बड़ी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। लोग गांव से करीब दो किलोमीटर दूर इकलौते कुएं से कीचड़ भरा पानी लाने को मजबूर हैं।इलाके के लोग हर साल पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। एक बाल्टी पानी के लिए लोगों को जान का जोखिम भी उठाना पड़ता है क्योंकि नलों में पानी आता नहीं लिहाजा कुएं की गहराई में उतरकर लोग पानी निकालने को मजबूर हैं। ऐसे मुश्किल वक्त में हवा से पानी बनाने वाली मशीन बस लोगों को मुंह चिढ़ा रही है।

Read more :  फूड प्वाइजनिंग के चलते बिगड़ी 25 छात्राओं की तबीयत, इलाज के लिए ले जाया गया अस्पताल