Maharashtra ministers allocated portfolios, Fadnavis gets home portfolio

देवेंद्र फडणवीस के पास रहेंगे गृह और वित्त मंत्रालय, जानें शिंदे सरकार में किस मंत्री को क्या मिला?

Shinde cabinet : मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि फडणवीस वित्त और योजना विभाग भी संभालेंगे

Edited By: , November 29, 2022 / 07:56 PM IST

मुंबई। Shinde cabinet : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने रविवार को उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को अहम गृह विभाग आवंटित कर दिया। नौ अगस्त को 18 मंत्रियों को शामिल कर अपनी दो सदस्यीय मंत्रिपरिषद का विस्तार करने वाले शिंदे ने शहरी विकास विभाग अपने पास रखा है।

यह भी पढ़ेंः  वरमाला के बाद दुल्हन ने स्टेज पर ही दूल्हे को जड़ दिया झन्नाटेदार तमाचा, देखकर सन्न रह गए थे मेहमान

Shinde cabinet : मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि फडणवीस वित्त और योजना विभाग भी संभालेंगे तथा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ही राधाकृष्ण विखे पाटिल नए राजस्व मंत्री होंगे। भाजपा के सुधीर मुनगंटीवार को वन मंत्री बनाया गया है। वह पूर्व में भी यह पद संभाल चुके हैं।

यह भी पढ़ेंः आजादी का अमृत महोत्सव का हिस्सा बने बॉलवुड कलाकार, घर पर तिरंगा फहराकर शेयर किया वीडियो

Shinde cabinet : भाजपा की प्रदेश इकाई के पूर्व अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल नए उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री होंगे। इसके साथ ही वह संसदीय कार्य विभाग भी देखेंगे। शिवसेना के शिंदे के नेतृत्व वाले समूह से दीपक केसरकर स्कूली शिक्षा मंत्री बनाए गए हैं और अब्दुल सत्तार को कृषि विभाग दिया गया है।

देखें  किस मंत्री को क्या मिला?

– राधाकृष्ण विखे-पाटिल : राजस्व, पशुपालन और डेयरी विकास विभाग
– सुधीर मुनगंटीवारः वानिकी, सांस्कृतिक गतिविधियां और मत्स्य पालन विभाग
– चंद्रकांत पाटिलः उच्च और तकनीकी शिक्षा, कपड़ा उद्योग और संसदीय कार्य विभाग
– डॉ. विजयकुमार गावितः आदिवासी विकास विभाग
– गिरीश महाजनीः ग्राम विकास एवं पंचायती राज, चिकित्सा शिक्षा, खेलकूद एवं युवा कल्याण विभाग
– गुलाबराव पाटिलः जल आपूर्ति और स्वच्छता विभाग
– दादा भुसः बंदरगाह और खदान विभाग
– संजय राठौडः खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग
– सुरेश खाड़ेः श्रम विभाग
– संदीपन भुमरेः रोजगार गारंटी योजना और बागवानी विभाग
– उदय सामंतः उद्योग विभाग
– प्रो. तानाजी सावंतः सार्वजनिक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग
– रवींद्र चव्हाणः लोक निर्माण (सार्वजनिक उद्यमों को छोड़कर), खाद्य और नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण विभाग
– अब्दुल सत्तारः कृषि विभाग विभाग
– दीपक केसरकरः स्कूली शिक्षा और मराठी भाषा विभाग
– अतुल सेवः सहकारिता, अन्य पिछड़ा वर्ग और बहुजन कल्याण विभाग
– शंभूराज देसाईः राज्य उत्पाद शुल्क विभाग
– मंगल प्रभात लोढ़ाः पर्यटन, कौशल विकास और उद्यमिता, महिला और बाल विकास विभाग

और भी है बड़ी खबरें…