Women do not keep Karva Chauth fast for the long life of their husband

Karva Chauth 2022 : एक गांव ऐसा भी! पति की लंबी उम्र के लिए महिलाएं नहीं रखतीं करवा चौथ का व्रत, जानें क्या है वजह

करवा चौथ का त्यौहार हर सुहागिन महिला के लिए खुशी का पल होता है। इस दिन महिलाएं सोलह सिंगार कर अपने पति के लिए व्रत रखती हैं।

Edited By: , September 22, 2022 / 03:16 PM IST

Karva Chauth 2022 : मथुरा – करवा चौथ का त्यौहार हर सुहागिन महिला के लिए खुशी का पल होता है। इस दिन महिलाएं सोलह सिंगार कर अपने पति के लिए व्रत रखती हैं। अपने पति की लंबी आयु की कामना करती हैं। मथुरा के सुरीर कलां गांव की महिलाएं ना तो अपने पति के लिए व्रत रखती हैं और ना ही सोलह सिंगार करती हैं। हर महिला चाहती है कि वह अपने पति के लिए व्रत रख सोलह सिंगार करें और उसकी लंबी उम्र की कामना करे। यहां की महिलाएं करवा चौथ के व्रत के नाम से डर और से हम जाती हैं। आज भी यहां सती का श्राप महिलाओं को ना तो व्रत रहने देता है और ना ही सोलह सिंगार करवा चौथ पर करने देता है।>>*IBC24 News Channel के WHATSAPP  ग्रुप से जुड़ने के लिए  यहां CLICK करें*<<

read more : Congress President Election : सोनिया गांधी-अशोक गहलोत में दो घंटे तक गुफ्तगू, कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में किसी का नहीं करेंगी समर्थन, ये है वजह 

व्रत करने की इच्छा मन में ही रह गयी

Karva Chauth 2022 : एक स्थानीय महिला ने बताया कि जो भी यहां पर नई दुल्हन आती है व्याहकर उसे भी करवा चौथ का व्रत नहीं रहने दिया जाता है। वहीं बताया कि वहां की महिलाओं में शादी से पहले करवा चौथ का व्रत रखने की इच्छा थी लेकिन अब वह मन की मन में ही रह गई।

read more : प्रदेश में विकलांग व्यक्तियों को मिलेगा आर्थिक सहयोग, प्रत्येक माह खाते में आएंगे इतने रुपए 

Karva Chauth 2022 : वहीं एक और महिला ने बताया कि सनहेरी देवी ने सती के श्राप के बारे में बताते हुए कहा कि वह 103 साल की हो गई है। 80 साल शादी को हो गए हैं। आज तक हमने करवा चौथ का व्रत नहीं रखा है। सती के श्राप से सभी महिलाएं डरी हुई है। चाहे वह नई नवेली दुल्हन हो चाहे बुजुर्ग महिला। साथ ही बताया गया कि गांव वालों के और सती के पति के बीच में विवाद हुआ था। उस विवाद में सती के पति की मौत हो गई थी।

read more : भारत ने तुर्की को दिखाया आईना, कश्मीर मुद्दा उठाने पर दो टूक, हमारे आंतरिक मामले में दखल न दें तो अच्छा होगा 

अभी तक तीन महिलाओं की हो चुकी है मौत

Karva Chauth 2022 : वहां पर तीन महिलाओं ने करवा चौथ वाले दिन सोलह श्रंगार कर व्रत रखने के लिए तैयार हुई। जब उन्होनें व्रत रखा तो अचानक से जिंदगी तहस नहस होने लगी। इतना ही नहीं यहां पर औरतों को सोलह श्रंगार करने का अधिकार पूरा है लेकिन करवा चौथ रखने का अधिकार नहीं है। जिन औरतों ने करवा चौथ का व्रत रखने की कोशिश की वह तीन औरतें गोलोक वासी हो चुकी हैं।

और भी लेटेस्ट और बड़ी खबरों के लिए यहां पर क्लिक करें