following-these-astrological-remedies-life-can-be-changed

जीवन से हर परेशानी हो जाएगी दूर, सुख-समृद्धि से भर जाएगा, बस कर लें ये पांच उपाय

अगर आप भी अपने जीवन में काफी परेशान हैं और जीवन में सुख चाहते हैं तो आपके लिए हम कुछ उपाय बताते हैं जिन्हें अपनाकर आपका जीवन सुख और समृद्धि से भर जाएगा

Edited By: , August 10, 2022 / 06:23 AM IST

Jyotish Upay: दुनिया में हर इंसान यही चाहता है कि उसके जीवन में सुख और शांति बने रहे। जिसके लिए वह दिन-रात भागते रहता है। फिर भी जीवन सुख की प्राप्ती उन्हें नहीं हो पाती। तो अगर आप भी अपने जीवन में काफी परेशान हैं और जीवन में सुख चाहते हैं तो आपके लिए हम कुछ उपाय बताते हैं जिन्हें अपनाकर आपका जीवन सुख और समृद्धि से भर जाएगा।

उत्तर या पूरब दिशा में मुख करके खाएं भोजन

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अगर आप सुखी होना चाहते हैं तो जब भी आप भोजन करें, आपका मुख हमेशा उत्तर या पूरब दिशा की ओर होना चाहिए। भोजन करने से पहले पांव में से जूते और चप्पल उतार लें। पहला कोर खाने से पहले मां अन्नपूर्णा और अन्न देवता का धन्यवाद अदा करें, जिनकी वजह से आपको भोजन मिल पा रहा है।

सुबह उठकर कुल्ला-दातुन जरूर करें

हिंदू धर्म ग्रंथों के मुताबिक सुबह उठने के बाद अच्छे तरीके से कुल्ला-दातुन जरूर करें। उसके बाद ही कोई खाद्य या पेय पदार्थ का सेवन करें। बिना स्नान किए धार्मिक पुस्तकों को स्पर्श न करें और न ही मंदिर की मूर्तियों को छुएं। ऐसा करना अशुभ माना जाता है और इससे घर का धन-वैभव घट जाता है।

Read more : MPTET पेपर लीक मामले में बड़ी कार्रवाई, 5 परीक्षार्थियों के खिलाफ FIR, इस शख्स ने दर्ज कराई FIR

गंगाजल का छिड़काव करते रहें

ज्योतिष के अनुसार घर के ईशान कोण में गंगाजल जरूर रखें। इस गंगाजल का बीच-बीच में घर के सभी हिस्सों में छिड़काव करते रहना चाहिए। इससे नकारात्मक शक्तियां घर से चली जाती हैं और सकारात्मक ऊर्जा का घर में प्रवाह बने रहता है।

सुबह-शाम मंदिर में जलाएं दीपक

घर में बने मंदिर में सुबह-शाम पूजापाठ और दीपकल जलाना न भूलें। रविवार को दिन किसी गूलर के पेड़ की जड़ को घर लाकर उसकी विधिवत पूजा करें। फिर उसे अपनी तिजौरी या पैसे रखने वाली जगह पर रख लें। माना जाता है कि इस उपाय के घर में धन की आमद बढ़ती चली जाती है।

सूखे फूलों को बहते पानी में बहा दें

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक घर में भगवान पर चढ़ाए गए फूल जब सूख जाएं तो उन्हें सम्मानपूर्वक किसी कागज में लपेटकर किसी बहते हुई नदी या नहर में प्रवाहित कर दें। अगर पास में कोई नदी-नहर न हों तो कोई साफ जगह खोदकर वहां पर उन्हें श्रद्धापूर्वक दबा दें।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें