vastu shastra tips in hindi : Important Vastu Tips For New Home

vastu shastra tips in hindi : वास्तु शास्त्र दूर करेगा आर्थिक संकट और पारिवारिक कलह, लौट आएंगी खुशियां, दीपक जलाकर करें ये उपाय

vastu shastra tips in hindi : जीवन में जिन वस्तुओं का हमारे दैनिक जीवन में उपयोग होता है उन वस्तुओं को किस प्रकार से रखा जाए वह भी वास्तु है।

Edited By: , November 29, 2022 / 07:00 AM IST

vastu shastra tips in hindi : नई दिल्ली। वास्तु शास्त्र घर, प्रासाद, भवन अथवा मन्दिर निर्माण करने का प्राचीन भारतीय विज्ञान है जिसे आधुनिक समय के विज्ञान आर्किटेक्चर का प्राचीन स्वरुप माना जा सकता है। जीवन में जिन वस्तुओं का हमारे दैनिक जीवन में उपयोग होता है उन वस्तुओं को किस प्रकार से रखा जाए वह भी वास्तु है। उत्तर, दक्षिण, पूरब और पश्चिम ये चार मूल दिशाएं हैं। वास्तु विज्ञान में इन चार दिशाओं के अलावा 4 विदिशाएं हैं। आकाश और पाताल को भी इसमें दिशा स्वरूप शामिल किया गया है। इस प्रकार चार दिशा, चार विदिशा और आकाश पाताल को जोड़कर इस विज्ञान में दिशाओं की संख्या कुल दस माना गया है। मूल दिशाओं के मध्य की दिशा ईशान, आग्नेय, नैऋत्य और वायव्य को विदिशा कहा गया है।

read more : Sarkari Naukri 2022: रक्षा और स्वास्थ्य मंत्रालय में इन पदों पर निकली है बंपर भर्ती, फटाफट करें अप्लाई, कहीं मौका निकल न जाए 

vastu shastra tips in hindi : अनेकों बार ऐसा होता है कि घर में अचानक परेशानियां शुरू हो जाती हैं। उस दौरान घर में लोग बीमार होने लगते हैं और पारिवारिक कलह भी शुरू हो जाती है। हर रोज पारिवारिक कलह से घर का वातावरण नकारात्मक बना रहता है। हालांकि वास्तु शास्त्र में इससे बचने के लिए और सुधार के लिए कई उपायों के बारे में बताया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में दीप जलाने से कई परेशानियां समाप्त हो जाती हैं।

read more : ‘भाजपा के आवाज उठाने के बाद निकाली गई वैकेन्सी’, CGPSC के भर्ती परीक्षा निकाले जाने पर प्रदेश महामंत्री का बयान 

घर में इस प्रकार जलाएं दीपक: vastu shastra tips in hindi

vastu shastra tips in hindi : घर पर या फिर घर के बाहर दीपक जलाना शुभ माना गया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में मंगलदीप जलाने के बारे में बताया गया है। सबसे पहले आप एक कांच का बाउल लें और उसमें एक कांच का ग्लास रख लें। उसके बाद उस बाउल में गिलास के चारों तरफ कांच की गोलियां जिसे कंचे कहते हैं। उसे डाल दें। उसके बाद आप एक मिट्टी का दीपक लेकर, गिलास के ऊपर जलाएं। दीपक में सरसों का तेल, घी, या फिर तिल का तेल डालें और उसके बाद दीपक जलाएं। यह आपको रोज शाम होते ही करना है। इसे आपको लगभग रात के 10 बजे तक जलते रहने देना है। जैसे जैसे बीच में तेल या घी कम हो, उसमें वापस से डाल दें। उसके बाद सोने से पहले उस दीपक को बुझा दें। उसके अगले दिन भी आपको यही उपाय करना है। अगले दिन बाउल का पानी और दीये की बत्ती बदल दें और वापस से शाम होते ही दीपक जलाएं।

इन बातों का रखें ध्यान: vastu shastra tips in hindi

दीपक जलाने के पहले बहुत सी बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। वास्तु के अनुसार दीपक जलाते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। वास्तु के मुताबिक आर्थिक समस्याओं के लिए दीपक अग्नि कोण या फिर घर के मेन कमरे में जलाना चाहिए। वहीं, वैवाहिक जीवन में समस्याओं से निजात पाने के लिए वायव्य कोण में दीपक जलाना शुभ होता है। इसके अलावा घर में परेशानियां बीमारियों आदि के लिए भी अग्नि कोण में दीपक जलाएं। वास्तु के अनुसार घर में अगर किसी की शादी नहीं हो रही हो तो उसके लिए नैऋत्य कोण में दीपक जलाना चाहिए।

read more : कोरोना संक्रमण के चलते लगाया गया सख्त लॉकडाउन, स्कूल, कॉलेज बाजार सब बंद, लेकिन सड़कों पर उतरे आए लोग

परेशानियां होंगी दूर

वास्तु शास्त्र के अनुसार लगातार घर में इस तरह दीया जलाने से घर की मुश्किलें और संकट भी दूर हो जाते हैं। साथ ही इस उपाय को आप लगातार दो से तीन महीने के लिए कर सकते हैं। इस वक्त में घर के लोगों को बीमारियों, नकारात्मक ऊर्जा, आर्थिक परेशानी और वैवाहिक जीवन में आ रही परेशानियों से छुटकारा मिलेगा। साथ ही ऐसा करने से घर में सुख समृद्धि और सकारात्मक ऊर्जा आएगी।

 

और भी लेटेस्ट और बड़ी खबरों के लिए यहां पर क्लिक करें