फजल महमूद, अब्दुल कादिर मरणोपरांत पीसीबी ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल

फजल महमूद, अब्दुल कादिर मरणोपरांत पीसीबी ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल

Edited By: , October 16, 2021 / 04:48 PM IST

लाहौर, 16 अक्टूबर (भाषा) पाकिस्तान के पहले महान तेज गेंदबाज फजल महमूद और 1970 के दशक के आखिर में कलाई की स्पिन गेंदबाजी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में फिर से जीवित करने वाले अब्दुल कादिर को मरणोपरांत पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल किया गया है।

ये दोनों दिवंगत सितारे इस प्रकार आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) ‘ हॉफ ऑफ फेम’ में शामिल हनीफ मोहम्मद, इमरान खान, जावेद मियांदाद, वसीम अकरम, वकार युनूस और जहीर अब्बास के साथ पीसीबी के हॉल ऑफ फेम में शामिल हो गये।  

सभी आठ पूर्व खिलाड़ियों को पीसीबी ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल करने की औपचारिकता मौजूदा सत्र के दौरान पूरी होगी।

पीसीबी अध्यक्ष रमीज राजा ने कहा, ‘‘दो अलग-अलग युगों के दिग्गजों फजल महमूद और अब्दुल कादिर को उनके साथियों और प्रशंसकों द्वारा 2021 के लिए पीसीबी हॉल ऑफ फेम में वोट दिया जाना उचित है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ यह उनकी अपार लोकप्रियता का प्रमाण है और इस महान खेल के लिए उनकी सेवाओं का सम्मान भी है।’’

रमीज ने कहा,  ‘‘ फजल महमूद और अब्दुल कादिर पाकिस्तान और वैश्विक क्रिकेट के सर्वकालिक महान खिलाड़ी और सही मायने में उत्कृष्ट राजदूत हैं। यह उनके योगदान के प्रति हमारी प्रशंसा और कृतज्ञता का एक छोटा सा प्रतीक है।’’

पाकिस्तान क्रिकेट के पहले सुपरस्टार माने जाने वाले फजल का जन्म 18 फरवरी, 1927 को लाहौर में हुआ था और उन्होंने 1952 से 1962 तक 34 टेस्ट में 139 विकेट लिए, जिसमें एक पारी में 13 बार पांच विकेट और एक मैच में चार बार 10 विकेट या उससे अधिक शामिल थे।

कादिर ने 1977 से 1990 तक 67 टेस्ट में 236 विकेट लिए, जिसमें एक पारी में 15 बार पांच विकेट और एक मैच में पांच बार 10 विकेट शामिल हैं। उन्होंने इसके अलावा टेस्ट क्रिकेट में 1,029 रन भी बनाए हैं।

कादिर उन पहले खिलाड़ियों में से एक थे जिन्होंने यह साबित किया कि लेग स्पिन एक दिवसीय क्रिकेट में प्रभावशाली हो सकती है। उन्होने 1983 से 1993 तक 104 एकदिवसीय मैचों में 132 विकेट लिये ।

भाषा आनन्द मोना

मोना