अपने खेल और टीम का ऋणी रहूंगा : छेत्री |

अपने खेल और टीम का ऋणी रहूंगा : छेत्री

अपने खेल और टीम का ऋणी रहूंगा : छेत्री

:   Modified Date:  May 29, 2024 / 06:34 PM IST, Published Date : May 29, 2024/6:34 pm IST

कोलकाता, 29 मई ( भाषा ) अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कहने की दहलीज पर खड़े भारत के करिश्माई कप्तान सुनील छेत्री ने बुधवार को कहा कि वह अपने साथी खिलाड़ियों और खेल के हमेशा ऋणी रहेंगे जिन्होंने हमेशा उनकी मदद करके इस मुकाम तक पहुंचाया ।

भारतीय टीम छह जून को कुवैत के खिलाफ 2026 फीफा विश्व कप क्वालीफायर खेलने यहां पहुंच गई है । छेत्री का यह आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच होगा ।

छेत्री ने यहां पहुंचने पर कहा ,‘‘ ये आखिरी कुछ दिन है जो मेरे लिये दुविधा से भरे हैं । अब राष्ट्रीय टीम में मेरे कुछ ही दिन रह गए हैं । समझ नहीं आता कि हर दिन , हर अभ्यास सत्र की गिनती करूं या बिना इस बारे में सोचे खेलूं ।’’

भारत के लिये 150 मैचों में 94 गोल करने वाले छेत्री ने कहा ,‘‘ मैने अपने सत्र गिनने का फैसला किया है लेकिन कृतज्ञता के भाव से । कोई चिंता नहीं है बल्कि मैं अपनी टीम और इस खेल के प्रति सदैव ऋणी रहूंगा ।’’

वैसे तो फुटबॉल के दीवाने कोलकाता में भारतीय टीम के हर मुकाबले को लेकर रोमांच रहता है लेकिन यह मुकाबला अहम है । अगर भारत जीतता है तो पहली बार फीफा विश्व कप क्वालीफायर के तीसरे दौर में पहुंच जायेगा । इसके साथ ही एएफसी एशियाई कप सउदी अरब 2027 के लिये स्वत: क्वालीफाई करने की दिशा में अगला कदम बढायेगा ।

भाषा मोना नमिता

नमिता

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers