व्यापारियों और छात्रों के सामने झुका प्रशासन, निगम कमिश्नर का आश्वासन, कोचिंग के सामने नहीं लगेंगी गुमटियां

व्यापारियों और छात्रों के सामने झुका प्रशासन, निगम कमिश्नर का आश्वासन, कोचिंग के सामने नहीं लगेंगी गुमटियां

: , March 26, 2021 / 12:00 PM IST

भोपाल। नगर प्रशासन ने व्यापारियों और छात्राओं के घोर विरोध के बाद अब कोचिंग क्लासेस के सामने गुमटी न रखने की मांग मान ली है। ​निगम कमिश्नर ने आश्वासन दिया है कि ​कोचिंग के सामने गुमटियां नहीं रखा जाएगी। इसके बाद अब प्रशासन और व्यापारियों की कमेटी मिलकर गुमटियों के लिए नई जगह की तलाश करेगें।

read more: 8 वर्ष पूरी कर चुके शिक्षकों के संविलियन की सूची जारी.. देखिए

बता दें कि बेटियों की सुरक्षा की मांग को लेकर व्यापारियों ने आज ही रैली निकाली थी। पटरी किनारे से रैली की शुरूआत की गई थी। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल तैनात था। इसके पहले बीते दिन भी कोचिंग के कई हजार छात्र छात्राओं ने प्रशासन के इस निर्णय का जमकर विरोध किया था। और सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया था।

read more: ‘साॅफ्टवेयर इंजीनियर बन करूंगी सबकी मदद’, सेजल सिहारे, मंडला

 वहीं आज एमपी नगर में रखी जा रही गुमटीयों को लेकर मंत्री पीसी शर्मा ने कहा था कि कांग्रेस सरकार के लिए महिला सुरक्षा पहली प्राथमिकता है। गुमटी वाले गरीब हैं इनका कहीं न कहीं व्यवस्थापन होना चाहिए। लेकिन ऐसी जगह नही जहां से लड़कियों का आना जाना है। मै कलेक्टर और निगम कमीशनर से बात करूंगा। गुमटियों का व्यवस्थापन सही जगह हो,जहां आम जनता को परेशानी न हो। प्रशासन पर प्रेशर को लेकर पीसी शर्मा ने कहा कि प्रशासन पर कोई प्रेशर नहीं है।

read more: जानिए प्रदेश में महंगी हुई बिजली पर जनसंपर्क मंत्री ने क्या कहा- पिछली सरकार पर लगाया ये आरोप

इनके अलावा आज गुमठियों का निरीक्षण करने आए महापौर आलोक शर्मा ने भी कहा था कि MP नगर में गुमठियां रखने का फैसला जिला प्रशासन ने लिया है। ये स्थान उपयुक्त है या नहीं, मैं यही देखने आया हूं। लोगों की आपत्ति आई है,निरीक्षण किया है, विकल्प तलाश रहे हैं। वहीं निगम कमिश्नर बी विजय दत्ता ने कहा था कि हटाई गई गुमठियां एमपी नगर के साथ दूसरे स्थानों पर भी रखी जाएंगी।

<iframe width=”853″ height=”480″ src=”https://www.youtube.com/embed/cSIhQP8co-c” frameborder=”0″ allow=”accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture” allowfullscreen></iframe>