विश्व पर्यावरण दिवस, सीएम बघेल ने अपने निवास परिसर में रोपे अमरूद, आम और बोहार के पौधे, प्रदेशवासियों से की ये अपील.. | World Environment Day, CM Baghel planted guava, mango and sowing plants in his residence premises

विश्व पर्यावरण दिवस, सीएम बघेल ने अपने निवास परिसर में रोपे अमरूद, आम और बोहार के पौधे, प्रदेशवासियों से की ये अपील..

विश्व पर्यावरण दिवस, सीएम बघेल ने अपने निवास परिसर में रोपे अमरूद, आम और बोहार के पौधे, प्रदेशवासियों से की ये अपील..

: , November 29, 2022 / 08:12 PM IST

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर राजधानी रायपुर स्थित अपने निवास परिसर में अमरूद, आम और बोहार (लसोड़) केे पौधे लगाए।

 

पढ़ें- छत्तीसगढ़ में आज 93 नए कोरोना मरीजों की हुई पुष्टि, एक्टिव मरीजों क…

बघेल ने इस अवसर पर प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा कि आप सभी अपने घरों में या आसपास एक पौधा अवश्य लगाएं और इसे जीवित रखने की जिम्मेदारी लें। चाहे वो फलदार वृक्ष का पौधा हो, चाहे इमारती लकड़ी का या फूल का हो। इससे हमारे आसपास का वातावरण अच्छा होगा, शुद्ध ऑक्सीजन हमको मिलेगी और ज्यादा से ज्यादा हरियाली होगी।

पड़ें- बीकॉम और बीएससी फाइनल ईयर की परीक्षाएं 1 जुलाई से, बीए की 8 जुलाई स…

बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ काफी भाग्यशाली है कि यहां 44 प्रतिशत क्षेत्र में जंगल हैं। हमारे पुरखों ने इन जंगलों को सहेज कर रखा। इसके महत्व को हमारे पूर्वज बेहतर समझते थे। हमारी पहचान, हमारी संस्कृति और हमारा जनजीवन इनसे जुड़ा हुआ है, यदि पेड़-पौधे नहीं होते, तो तापमान कितना बढ़ जाता। प्रकृति का संतुलन बिगड़ जाता है और इससे बड़े भारी नुकसान का सामना हमको करना पड़ता। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि पेड़ वाईफाई देते, तो पता नहीं कितने पेड़ लग जाते, लेकिन यह केवल ऑक्सीजन देते हैं।

पढ़ें- राजधानी में अब 123 के फार्मूले में खुलेगी दुकानें, जिला प्रशासन ने …

ऑक्सीजन हमारे जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। आज पूरे देश में कोरोना संक्रमण फैला हुआ है और केवल देश में ही नहीं पूरे विश्व में, ऐसे समय में शुद्ध वातावरण का कितना महत्व है यह हर व्यक्ति समझ रहा है। छत्तीसगढ़ इस मामले में भाग्यशाली है कि यहां 44 जंगल है, जिसे हम सबने बचा के रखा है और इसे आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी भी हम सब की है।

पढ़ें- 13 गांव और नगरीय निकाय का एक वार्ड कंटेनमेंट जोन घोषित, इन सुविधाओं..

पर्यावरण दिवस के अवसर पर मैं सभी से आग्रह करना चाहता हूं कि एक पेड़ अवश्य लगाएं और उसे जीवित रखने की जिम्मेदारी स्वयं लें ताकि पेड़-पौधे बढ़े, हरियाली हो चाहे वह पौधा फलदार हो, चाहे इमारती लकड़ी का हो, चाहे फूल के पौधे हो, जिससे हमारे आसपास में वातावरण अच्छा हो, शुद्ध ऑक्सीजन हमको मिल सके और ज्यादा से ज्यादा हरियाली हो।