निज सचिव की मौत मामला, SHO समेत कई लोगों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया FIR

पुलिस और अपनी बहन के ससुरालवालों पर उत्‍पीड़न का आरोप लगाते हुए लखनऊ पुलिस आयुक्‍तालय के हुसैनगंज थाना में मामला दर्ज कराया है।

Edited By: , September 8, 2021 / 06:53 AM IST

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के नगर विकास विभाग के अपर मुख्‍य सचिव के निजी सचिव विशंभर दयाल की मौत के मामले में उनके भाई ने उन्‍नाव जिले की औरास थाने की पुलिस और अपनी बहन के ससुरालवालों पर उत्‍पीड़न का आरोप लगाते हुए लखनऊ पुलिस आयुक्‍तालय के हुसैनगंज थाना में मामला दर्ज कराया है।

Read More News:  धर्मांतरण के कथित मामले को लेकर आक्रामक हुआ BJP, धर्म परिवर्तन करवाने वालों के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग

नगर विकास विभाग के अपर मुख्‍य सचिव के निजी सचिव विशंभर दयाल की तीन सितंबर को यहां डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अस्पताल में मौत हो गई थी। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विधान भवन से कुछ ही दूरी पर चाक-चौबंद सुरक्षा वाले बापू भवन में विशंभर दयाल ने 30 अगस्‍त को कथित रूप से खुद को गोली मार ली थी।

हुसैनगंज पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मामले में विशंभर दयाल के भाई लखनऊ निवासी ओमप्रकाश की तहरीर पर उन्‍नाव जिले के औरास थाना के तत्‍कालीन थाना प्रभारी (एसएचओ) हरि प्रसाद अहिरवार, उप निरीक्षक तमीजुद़दीन और बहन के ससुरालवालों समेत कई अन्‍य पुलिसकर्मियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306 (आत्‍महत्‍या के लिए उकसाने), भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम और अनुसूचित जाति जनजाति (नृशंसता निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Read More News:  1976 में कांग्रेस में आने के बाद से लड़ रहा हूं बीजेपी और संघ की विचारधारा से: पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह

तहरीर के अनुसार, ओमप्रकाश ने आरोप लगाया है कि रिश्‍तेदारों के जमीनी विवाद में एसएचओ हरि प्रसाद अहिरवार आदि द्वारा झूठे व मनगढंत मुकदमे लगाकर 11 अगस्‍त, 2019 से लगातार उन्‍नाव पुलिस द्वारा प्रताडि़त किया जा रहा है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि उनके भाई को उन्‍नाव पुलिस और विपक्षीगणों ने मानसिक उत्‍पीड़न कर आत्‍महत्‍या के लिए उकसाया।

Read More News:  मौत पर सियासत…क्या है हकीकत? आदिवासियों के खिलाफ हिंसा खड़े करते हैं दोनों दलों की नियत पर सवाल

पुलिस के मुताबिक बापू भवन की आठवीं मंजिल पर नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव रजनीश दुबे के निजी सचिव विशंभर दयाल ने 30 अगस्‍त को रिवाल्वर से खुद को गोली मार ली थी। गंभीर रूप से घायल अवस्था में उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिनकी तीन सितंबर को अस्‍पताल में मौत हो गई। बापू भवन विधान भवन के ठीक सामने स्थित है और इसमें मंत्रियों तथा वरिष्ठ अधिकारियों के दफ्तर हैं।

Read More News:  फिर लीक हुआ B.Sc नर्सिंग का पेपर? 15 हजार में पेपर का सौदा किए जाने का ऑडियो वायरल