MARD Party in Lok Sabha Election

MARD Party in Lok Sabha Election : लोकसभा चुनाव में उतरे ‘मर्द पार्टी’ के प्रत्याशी, ‘घोषणापत्र’ में शालिम है दिलचस्प वादे

MARD Party in Lok Sabha Election : लोकसभा चुनाव के बीच इन दिनों लखनऊ में इस अजीब नाम वाली मर्द पार्टी और इसके नेता की काफी चर्चा हो रही है।

Edited By :   Modified Date:  May 15, 2024 / 06:44 PM IST, Published Date : May 15, 2024/6:44 pm IST

MARD Party in Lok Sabha Election : लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ की लोकसभा सीट से जहां एक तरफ देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और समाजवादी पार्टी से रविदास मेहरोत्रा मैदान में है वहीं दूसरी तरफ लखनऊ लोकसभा सीट से एक और पार्टी अपने विचित्र नाम और घोषणा पत्र के साथ चुनाव लड़ रही है। पार्टी का नाम है मर्द पार्टी (MARD) यानी मेरा अधिकार राष्ट्रीय दल। जिसका स्लोगन है पुरुष परिवार के सम्मान में, उतरे है मर्द मैदान में। लोकसभा चुनाव के बीच इन दिनों लखनऊ में इस अजीब नाम वाली मर्द पार्टी और इसके नेता की काफी चर्चा हो रही है।

read more : ‘मैंने पहले ही कहा था मोदीजी रोने वाले हैं…जल्द ही मंच से गिरेंगे’, कांग्रेस अध्यक्ष चीफ दीपक बैज ने कसा तंज

पार्टी ‘घोषणापत्र’ में दिलचस्प वादे

पार्टी ‘घोषणापत्र’ में दिलचस्प वादे हैं, जिनमें ‘पुरुष कल्याण मंत्रालय’ और ‘पुरुषों के लिए राष्ट्रीय आयोग’ शामिल हैं। उनका लक्ष्य महिलाओं के पक्ष में कानूनों के कारण पुरुषों के साथ होने वाले अनुचित व्यवहार को रोकने के लिए ‘पुरुष सुरक्षा विधेयक’ पारित करना और पारिवारिक मुद्दों में उनकी सहायता के लिए ‘मेन्स पावर लाइन’ स्थापित करना है । इसके अलावा, वे पारिवारिक मुद्दों को संभालने, तलाक के बाद बच्चे की हिरासत के लिए कानून लागू करने और “लिव-इन रिलेशनशिप को तुरंत रोकने” के लिए एक ‘परिवार कल्याण समिति’ भी स्थापित करना चाहते हैं। लेकिन क्या वे महिलाओं को अपनी पार्टी में शामिल करने के लिए तैयार हैं? कपिल कहते हैं, ”हर तरह से.” वह अपने अभियान में शामिल होने के लिए गाते हैं, “हमारा उद्देश्य पुरुषों के अधिकारों की रक्षा करना है, न कि महिलाओं के अधिकारों का उल्लंघन करना।”

 

बता दें कि लखनऊ लोकसभा सीट से मर्द पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कपिल मोहन राजनाथ सिंह और रविदास मेहरोत्रा के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। कपिल मोहन ने बातचीत में साफ-साफ कहा कि चुनाव जीतना उनका उद्देश्य नहीं है। उनका उद्देश्य समाज में महिला सशक्तीकरण के नाम पर पुरुषों के साथ हो रहे अत्याचार और पुलिस थाना कचहरी की आड़ में बिखर रहे परिवारों के लिए एक नई आवाज उठाना है। चुनाव में इनका स्लोगन है- ‘बेटों के सम्मान में उतरे हैं मैदान में’।

 
Flowers