43 लाख आवास उपलब्ध कराना बाबा साहब के सपनों को साकार करना हैः योगी |

43 लाख आवास उपलब्ध कराना बाबा साहब के सपनों को साकार करना हैः योगी

43 लाख आवास उपलब्ध कराना बाबा साहब के सपनों को साकार करना हैः योगी

:   November 29, 2022 / 08:32 PM IST

लखनऊ, 14 अप्रैल (भाषा) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि संविधान में समानता, न्याय और बंधुत्व की भावना का जो भाव बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने दिया है, उसी का परिणाम है कि विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में भारत आगे बढ़ रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार आज गरीब व वंचितों को आवास उपल्ब्ध करा रही है और प्रदेश में 43 लाख लोगों को घर उपलब्ध कराना बाबा साहब के सपनों को साकार करना है।

आदित्यनाथ ने आंबेडकर जयंती के अवसर पर बाबा साहब को श्रद्धा सुमन अर्पित किये। इस अवसर पर बाबा साहब भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में आंबेडकर महासभा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने राष्ट्र के निर्माण में उनके योगदान को याद किया और उनके बताए मार्ग पर चलने के लिए लोगों को प्रेरित किया।

एक सरकारी बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम में कहा कि संविधान में समानता, न्याय और बंधुत्व की भावना का जो भाव बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने दिया है, उसी का परिणाम है कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में भारत आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री ने बाबा साहब आंबेडकर को सबसे अधिक सम्मान दिया।

आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘उन्होंने (प्रधानमंत्री ने) देश और दुनिया में बाबा साहब से जुड़े स्थलों को पंचतीर्थ के रूप में विकसित कराया।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार आज गरीबों व वंचितों को आवास उपल्ब्ध करा रही है और प्रदेश में 43 लाख लोगों को घर उपलब्ध कराना बाबा साहब के सपनों को साकार करना है। उन्होंने कहा कि लोगों को शौचालय, बिजली आदि की सुविधाएं बिना भेदभाव मिल रही है, सरकार शिक्षा के नये केंद्र उपलब्ध करा रही है, यही बाबा साहब के सपने को पूरा करना है।

मुख्यमंत्री के अनुसार, ‘‘बाबा साहब ने कहा था कि चुनौतियों का सामना करने से ही रास्ता निकलेगा। जब बाबा साहब का जन्म हुआ तो अस्पृश्यता की भावनाएं पूरे समाज में थीं, लेकिन उन्होंने पलायन का नहीं, जीवन में संघर्ष का मार्ग अपनाया।’’

उन्होंने आगे कहा कि यही कारण है कि जब समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति की बात होती है तो बाबा साहब का नाम बड़ी श्रद्धा और समान्न के साथ लिया जाता था।

उन्होंने कहा, ‘‘आंबेडकर ने कहा था कि आदि से अंत तक हम भारतीय हैं। इसी भाव को अपने जीवन का हिस्सा बनाकर कार्य करेंगे तो सफलता निश्चित मिलेगी।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि आंबेडकर महासभा के प्रयासों का ही परिणाम है कि प्रदेश सरकार लखनऊ में बाबा साहब का भव्य स्मारक और सांस्कृतिक केंद्र बनाने के लिए तेजी से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बाबा साहब के सपने को साकार करने के लिए दृढ़ता से कार्य करेगी और नए भारत के निर्माण में योगदान देंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी दुनिया में गरीबों और वंचितों की बात आएगी तो बाबा साहब का नाम बड़ी श्रद्धा के साथ लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सकारात्मक सोच व्यक्ति को आगे बढ़ाती है और नकारात्मकता पतन की ओर ले जाती है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बाबा साहब और जोगेन्द्र नाथ मंडल दोनों ने समाज के वंचितों और शोषितों के लिए काम किया। उन्होंने कहा, ‘‘बाबा साहब आजाद भारत के और जोगेन्द्र नाथ मंडल पाकिस्तान के कानून मंत्री बने, लेकिन जोगेन्द्र नाथ मंडल को वहां से पलायन करना पड़ा और गुमनाम जीवन जीना पड़ा़, वहीं बाबा साहब के नाम से आज देश और दुनिया में संस्थान, स्मारक और शिक्षण संस्थान हैं। भारत और दुनिया में बाबा साहब को सम्मान मिला।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें केंद्र और राज्य सरकार की सभी योजनाओं को लेकर कार्य करना पड़ेगा। 2017 से पहले अनुसूचित जाति-जनजाति की छात्रवृत्ति रोक दी गयी था, लेकिन जब हमारी सरकार आई तो इसे फिर से शुरू किया गया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘बाबा साहब चाहते थे हम ऐसा समाज बनाएं जहां भेदभाव, शोषण का कोई स्थान न हो। योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम पायदान तक पहुंचाया जाना चाहिए।’’

भाषा जफर सुरेश माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers