Khargone Bhavani Mata Mandir: इस शक्तिपीठ के रहस्य आपको कर देंगे हैरान, चमत्कारों से भरे हैं मां भगवती के ये पावन धाम! | Khargone Bhavani Mata Mandir

Khargone Bhavani Mata Mandir: इस शक्तिपीठ के रहस्य आपको कर देंगे हैरान, चमत्कारों से भरे हैं मां भगवती के ये पावन धाम!

Khargone Bhavani Mata Mandir: इस शक्तिपीठ के रहस्य आपको कर देंगे हैरान, चमत्कारों से भरे हैं मां भगवती के ये पावन धाम!

Edited By :   Modified Date:  March 31, 2024 / 10:00 PM IST, Published Date : March 31, 2024/10:00 pm IST

Khargone Bhavani Mata Mandir: खरगोन। मां भगवती की 108 सिद्धपीठ में मध्यप्रदेश की विंध्यवासिनी स्वाहा महेश्वरी देवी का मंदिर भी शामिल है। क्षेत्र में भवानी माता के नाम से यह मंदिर प्रसिद्ध है। माता का यह मंदिर एमपी के खरगोन जिले की पवित्र एवं पर्यटन नगरी महेश्वर के भवानी चौक में मौजूद है। श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र इस मंदिर में शारदीय नवरात्रि में माता के दर्शन के लिए दूर–दूर से भक्तों का सैलाब उमड़ रहा है।

Read more: Tornado: असम समेत इन राज्यों में भीषण तूफानी बवंडर ने मचाई तबाही, 4 की मौत, 100 से अधिक घायल 

पाषाण के पत्थर से निर्मित हुई मां का ये मंदिर

मंदिर में विराजित लगभग तीन फिट ऊंची मां भवानी की प्रतिमा काले पाषाण के पत्थर से निर्मित होकर माता की सवारी शेर की प्रतिमा भी काले पत्थर से बनी हुई है। 16 हाथ यानी नौ मीटर की साड़ी माता को लगती है। मंदिर के पुजारी पंडित विलास झावरे एवं पंडित नरेंद्र काशीनाथ झावरे ने कहा कि विंध्यवासिनी स्वाहा महेश्वरी देवी का यह मंदिर काफी प्राचीन है।

हैहय राजवंशमें भी मंदिर का जिक्र होता है। मत्स्य पुराण के 13वें अध्याय में वर्णित 108 सिद्धपीठ में यह मंदिर शामिल है। माता का स्वाह अंग यहां गिरने से यह स्वाहा शक्तिपीठ के रूप में स्थापित हुई है। देवीय पुराण में भी मंदिर का उल्लेख मिलता है। होलकर स्टेट में देवी अहिल्या बाई होलकर द्वारा मंदिर का जीर्णोद्धार हुआ है, अब यह मंदिर खासगी ट्रस्ट के अधीन है।

Read more: महादेव की कृपा से इन चार राशि वालों की बदलेगी किस्मत, होगा धन-लाभ और मिलेगी अपार तरक्की 

दर्शन के लिए उमड़ा भक्तों का सैलाब

Khargone Bhavani Mata Mandir: कलाकृतियों से तराशे गए स्तंभों और मेहराबो से सुसज्जित भव्य सभा मंडप तथा सुघड़ पत्थरों से मढ़ा माता का गर्भ गृह है। मान्यता है की विश्व की पंचपुरियो में यह मंदिर शामिल है। नवरात्रि में माता की भक्तों पर विशेष कृपा बरसती है। इसीलिए शारदीय नवरात्रि में हर दिन हजारों की तादात में भक्त माता के दर्शन के लिए आते है। किवदंती है की यहां दर्शन करने वालो भक्तों को तीन प्रहर में तीन अलग अलग रूपो में दर्शन होते है। मान्यता यह भी है की यहां मांगी हुई कोई भी मुराद खाली नहीं जाती।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Follow the IBC24 News channel on WhatsApp

 
Flowers