रूस-यूक्रेन विवाद ने बढ़ाई टेंशन.. अमेरिका ने 8,500 सैनिकों को तैयार रहने का दिया आदेश

रूस की गतिविधियों को लेकर चिंता के बीच अमेरिका ने 8,500 सैनिकों को तैयार रहने का आदेश दिया

: , January 25, 2022 / 02:16 PM IST

वाशिंगटन, 25 जनवरी (भाषा) रूस के यूक्रेन पर सैन्य कार्रवाई करने की आशंकाओं को लेकर बढ़ती चिंता के बीच पेंटागन ने 8,500 सैनिकों को नाटो बल के हिस्से के रूप में यूरोप में तैनात होने के लिए तैयार रहने को कहा है।

पढ़ें- कांग्रेस को बड़ा झटका.. स्टार प्रचारकों में शामिल आरपीएन सिंह ने बदला पाला.. भाजपा में होंगे शामिल

राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूरोप के प्रमुख नेताओं से विचार-विमर्श किया और अपने सहयोगी देशों के साथ एकजुटता प्रदर्शित की। सोमवार को अमेरिकी सैनिकों को यूरोप में तैनात करने के लिए तैयार होने का आदेश जारी किये जाने के बीच यह उम्मीद कम होती दिख रही है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अपने उस रुख से पीछे हटेंगे जिसे बाइडन ने पड़ोसी यूक्रेन पर हमले के खतरे के रूप में आंका है।

पढ़ें- गौतम गंभीर कोरोना पॉजिटिव.. संपर्क में आए लोगों से टेस्ट कराने की अपील

इस दौरान यूक्रेन के भविष्य के साथ नाटो गठबंधन बल की विश्वसनीयता भी दांव पर है जो अमेरिकी रक्षा रणनीति के केंद्र में है। वहीं पुतिन इसे शीत युद्ध की याद के तौर पर और रूसी सुरक्षा के लिए खतरे के रूप में देखते हैं। बाइडन का मानना है कि यह संकट पुतिन के खिलाफ एकजुट होकर प्रयास करने की उनकी क्षमता का बड़ा परीक्षण है।

पढ़ें- वीरता पुरस्कार का ऐलान.. छत्तीसगढ़ को मिले 10 पदक.. सबसे ज्यादा मेडल जम्मू कश्मीर पुलिस को.. देखिए पूरी सूची

पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने कहा कि संभावित तैनाती के लिए 8,500 अमेरिकी सैनिकों को तैयार किया जा रहा है। इन्हें यूक्रेन में नहीं बल्कि रूस की किसी भी आक्रामक गतिविधि की रोकथाम के लिए एकजुटता जताने वाले नाटो बल के भाग के रूप में पूर्वी यूरोप में भेजा जा सकता है। रूस ने आक्रमण करने की संभावना से इनकार किया है। उसका कहना है कि पश्चिमी देशों के आरोप नाटो की खुद की सुनियोजित उकसावे वाली कार्रवाइयों को ढकने का प्रयास मात्र हैं।

पढ़ें- भूमिहीन परिवारों को हर साल मिलेंगे 6000 रुपए, छत्तीसगढ़ में राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना का जल्द होगा शुभारंभ

बाइडन ने रूस की सैन्य गतिविधियों पर यूरोप के अनेक नेताओं के साथ 80 मिनट तक वीडियो कॉल पर बात की। उन्होंने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरी बहुत, बहुत अच्छी बैठक रही। सभी यूरोपीय नेताओं में पूरी तरह से सर्वसम्मति है।’’ व्हाइट हाउस ने कहा कि यूरोपीय नेताओं ने संकट के कूटनीतिक समाधान के लिए अपनी आकांक्षा जाहिर की है, साथ ही रूस की और गतिविधियों पर रोकथाम के प्रयासों पर चर्चा भी की।

पढ़ें- खुशखबरी.. 6 हजार पुलिस आरक्षकों की होगी भर्ती..PEB से आयोजित होगी आरक्षक भर्ती परीक्षा

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने एक दिन पहले यूक्रेन स्थित अमेरिकी दूतावास में कार्यरत सभी अमेरिकी कर्मियों के परिवारों को रूसी हमले के बढ़ते खतरों के बीच देश छोड़ने का आदेश दिया था। मंत्रालय ने कीव स्थित अमेरिकी दूतावास के कर्मियों के आश्रितों को परामर्श दिया कि उन्हें देश छोड़ देना चाहिए।