चीन की सेना ने ‘सख्त सजा’ के तहत ताइवान के नजदीक अभ्यास किया |

चीन की सेना ने ‘सख्त सजा’ के तहत ताइवान के नजदीक अभ्यास किया

चीन की सेना ने ‘सख्त सजा’ के तहत ताइवान के नजदीक अभ्यास किया

:   Modified Date:  May 24, 2024 / 05:51 PM IST, Published Date : May 24, 2024/5:51 pm IST

(के.जे.एम.वर्मा)

बीजिंग/ताइपे, 24 मई (भाषा)चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने शुक्रवार को ‘‘ सत्ता पर कब्जा करने’’ की अपनी क्षमता का परीक्षण किया। उसने कहा कि उसकी सेनाओं ने ताइवान के नए राष्ट्रपति लाई चिंग-ते की टिप्पणी के जवाब में स्वशासित द्वीप के आसपास बड़े पैमाने पर अभ्यास शुरू किया।

चिंग ते ने ताइवान पर चीन की संप्रभुता के दावों को खारिज कर दिया था।

पीएलए की पूर्वी थियेटर कमान के प्रवक्ता ली शी ने कहा कि सेना, नौसेना, वायु सेना और रॉकेट बलों की संयुक्त सेनाओं ने दो दिवसीय अभ्यास के समापन के दिन क्षेत्र पर नियंत्रण और कब्जे के अभ्यास पर ध्यान केंद्रित किया। यह युद्धाभ्यास ताइवान द्वीप के आसपास किया गया।

उन्होंने प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘‘युद्ध के मैदान पर संयुक्त रूप से नियंत्रण करने, संयुक्त हमले शुरू करने और महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए कमान की क्षमताओं का परीक्षण करने के वास्ते द्वीप समूह के अंदर और बाहर एकीकृत अभियान शुरू किया गया।’’

चीन के तट रक्षक बल ने अलग से जारी बयान में कहा कि उसने ताइवान जलडमरूमध्य में अपने अभ्यास पर ध्यान केंद्रित किया है। यह संकरा जल क्षेत्र है जो चीन की मुख्य भूमि को ताइवान से अलग करता है। इस दौरान सत्यापन और पहचान के साथ ही संघर्ष के समय किसी भी विदेशी जहाज को चेतावनी और निष्कासन का भी अभ्यास किया गया।

सैन्य विश्लेषकों का कहना है कि पीएलए अगस्त 2022 में तत्कालीन अमेरिकी संसद के निम्न सदन प्रतिनिधि सभा की तत्कालीन अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी की यात्रा के बाद से आक्रामक सैन्य अभ्यास कर रही है। उसने सैन्य कार्रवाई के माध्यम से ताइवान पर संभावित कब्जे का अभ्यास किया।

ताइवान के शीर्ष नेताओं के मुताबिक चीन, ताइवान को एक बागी प्रांत के रूप में देखता है, जिसे बलपूर्वक भी मुख्य भूमि के साथ फिर से एकीकृत करना चाहता है और 2027 में अपना आक्रमण शुरू कर सकता है।

पीएलए के पूर्वी थिएटर कमान ने बृहस्पतिवार को दो दिवसीय अभ्यास शुरू किया। उसने कहा कि ‘‘यह अभ्यास ‘ताइवान की आजादी’ के समर्थकों के अलगाववादी कृत्यों के लिए कड़ी सजा और बाहरी ताकतों के हस्तक्षेप एवं उकसावे के खिलाफ कड़ी चेतावनी के रूप में भी काम करता है।’’

हांगकांग से प्रकाशित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की खबर के अनुसार, कमान द्वारा आभासी हमलों का एक 3डी वीडियो जारी किया गया था, जिसमें पीएलए की वायुसेना, नौसेना और रॉकेट बल ताइवान के शहरों ताइपे, हुलिएन और काऊशुंग को निशाना बनाते दिख रहे हैं।

ताइवान के रक्षा मंत्रालय के अनुसार, शुक्रवार सुबह तक ताइवान के आसपास पीएलए के 49 विमान, नौसेना के 19 पोत और तटरक्षक बल के सात जहाज देखे गए हैं।

इसमें कहा गया है कि 35 विमानों को ताइवान जलडमरूमध्य के मध्य स्थित काल्पनिक बिंदु को पार करते हुए देखा गया। ताइवान के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक द्वीप के सशस्त्र बलों ने स्थिति की निगरानी की और तदनुसार प्रतिक्रिया दी।

ताइवान से आई खबरों के मुताबिक पीएलए के युद्धाभ्यास से उसके 2.30 करोड़ लोगों का सामान्य जीवन प्रभावित नहीं हुआ है।

भाषा धीरज नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers