The state government presented the answer in the High Court regarding

हॉस्पिटल अग्निकांड को लेकर राज्य सरकार ने हाईकोर्ट में पेश किया जवाब , अब इस तारीख को होगी अगली सुनवाई

The state government presented the answer in the High Court regarding the hospital fire

Edited By: , November 29, 2022 / 08:23 PM IST

next hearing will be held on this date: जबलपुर :जबलपुर के न्यू लाईफ हॉस्पिटल अग्निकांड में 8 लोगों की मौत के मामले में राज्य सरकार ने हाईकोर्ट में अपना जवाब पेश किया है.आज सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि इस अग्निकांड के बाद प्रावधानों का पालन नहीं करने वाले अस्पतालों के लायसेंस रद्द किए जा रहे हैं  साथ ही प्रदेश के सभी निजी अस्पतालों की सुरक्षा व्यवस्था की जांच जारी है. साथ ही  राज्य सरकार ने जवाब में आगे कहा गया कि जबलपुर के न्यू लाईफ हॉस्पिटल को जांच में क्लीन चिट देने वाले स्वस्थ्य विभाग के 3 अधिकारियों को सस्पेंड करने के आदेश भी दे दिए गए हैं.

यह भी पढ़े: कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव की हालत फिर हुई गंभीर, डॉक्टरों ने स्वास्थ्य पर दी ये बड़ी जानकारी

22 अगस्त हो होगी अगली सुनवाई

next hearing will be held on this date: इधर सुनवाई के दौरान खुलासा हुआ कि सरकार जिन 3 डॉक्टर अधिकारियों को सस्पेंड  करने कि बात कर रही है उन्हें फिर से निजी अस्पतालों की नई जांच टीम में शामिल कर लिया गया है, इस बात पर हाईकोर्ट ने नाराज़गी जताई है और राज्य सरकार को शपथपत्र पर जवाब पेश करने के निर्देश दिए हैं. कार्रवाई के दौरान हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को सोमवार तक ये बताने का आदेश दिया है कि वो प्रावधानों का उल्लंघन कर रहे अस्पताल को भी क्लीनचिट देने वाले अधिकारियों पर क्या कार्रवाई कर रही है. वही जबलपुर हाईकोर्ट ने मामले पर अगली सुनवाई सोमवार 22 अगस्त को तय कि  है.

हॉस्पिटल को मिली थी क्लीन चिट

यह भी पढ़े: पार्टनर के साथ इस पोजीशन में सोना होता है बेस्ट, जानिए क्या है इसका सीक्रेट

next hearing will be held on this date: बता दें कि निजी अस्पतालों से फायर सेफ्टी और नेशनल बिल्डिंग कोड का पालन करवाने की मांग के साथ ये याचिका जनवरी माह में ही दायर कर दी गई थी जिस पर कोर्ट ने जांच और कार्रवाई के आदेश दिए थे.. खुलासा हुआ था कि सरकार के निर्देश पर गठित जांच टीम ने जबलपुर के न्यू लाईफ हॉस्पिटल को भी क्लीन चिट दे दी थी जबकि वो प्रावधानों का पालन ही नहीं कर रहा था। आपको बता दे कि  1 अगस्त 2022 को इस हॉस्पिटल में भीषण अग्निकांड हुआ था जिसमें 8 लोगों की मौत हो गई थी.