एचडीएफसी के साथ विलय में 8-10 महीने और लगेंगे: एचडीएफसी बैंक |

एचडीएफसी के साथ विलय में 8-10 महीने और लगेंगे: एचडीएफसी बैंक

एचडीएफसी के साथ विलय में 8-10 महीने और लगेंगे: एचडीएफसी बैंक

: , November 29, 2022 / 08:44 PM IST

मुंबई, 25 नवंबर (भाषा) एचडीएफसी बैंक ने अपनी प्रमुख आवास वित्त कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड के साथ विलय अगले साल सितंबर तक पूरा होने की उम्मीद जताई है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक दोनों ने शेयरधारकों की मंजूरी लेने के लिए शुक्रवार को आम बैठकें कीं। यह बैठक भारतीय कॉरपोरेट इतिहास में 40 अरब डॉलर से अधिक के सबसे बड़े विलय को लेकर की गई।

इस साल चार अप्रैल को विलय की घोषणा के समय दोनों कंपनियों ने कहा था कि इसमें 12 से 18 महीने का समय लगेगा।

एचडीएफसी बैंक के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक शशिधरन जगदीशन ने बैठक में कहा, ‘‘हम मानते हैं कि अतीत के तौर-तरीकों और पिछले रुझानों को देखते हुए प्रभावी तारीख की घोषणा करने में लगभग आठ से दस महीने का समय लगेगा।’’

उन्होंने कहा कि एचडीएफसी लिमिटेड के बेहतर पूंजी पर्याप्तता अनुपात के जरिये इस विलय से नयी इकाई के पूंजी पर्याप्तता अनुपात को 0.20 से 0.30 प्रतिशत तक बढ़ाने में मदद मिलेगी।

एचडीएफसी की बैठक में कंपनी के चेयरमैन दीपक पारेख ने कहा कि एचडीएफसी बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के साथ विलय को लेकर काम कर रहा है, लेकिन शेयरधारकों को चिंता करने की जरुरत नहीं है।

इसके अलावा एचडीएफसी बैंक के चेयरमैन अतनु चक्रवर्ती ने कहा कि एचडीएफसी की सभी सहायक कंपनियां विलय की गई इकाई की सहायक कंपनियां बन जाएंगी। हालांकि, कुछ ऐसी इकाइयां भी हैं जो बैंक का हिस्सा नहीं हो सकती हैं और उनका विनिवेश किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सहायक कंपनियों के विलय के लिए आरबीआई और भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (इरडाई) से मंजूरी मांगी जायेगी।

पारेख ने साथ ही एचडीएफसी शेयरधारकों को स्पष्ट कर दिया कि वह आयु शर्तों को देखते हुए एचडीएफसी बैंक के निदेशक मंडल में शामिल नहीं होंगे और चक्रवर्ती एचडीएफसी बैंक के चेयरमैन बने रहेंगे।

वहीं, जगदीशन ने कहा कि एचडीएफसी के 3,500 से अधिक कर्मचारी बैंक के 1.61 लाख कर्मचारियों की सूची में शामिल होंगे और कुछ को छोड़कर एचडीएफसी की लगभग सभी 508 शाखाओं का विलय भी हो जाएगा।

दोनों बैठकों की अध्यक्षता राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) द्वारा नियुक्त गौतम दोषी ने की। उन्होंने कहा कि मतदान के परिणाम की एक प्रति शनिवार शाम तक एनसीएलटी को उपलब्ध करा दी जाएगी।

भाषा जतिन रमण

रमण

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)