बिना इंटरनेट हो सकेगा डिजिटल पेमेंट, IMPS की लिमिट 5 लाख बढ़ाई गई, RBI का ऐलान

RBI doesn't change policy rates for the eighth time in a row, will continue soft monetary stance रिजर्व बैंक ने लगातार आठवीं बार नीतिगत दरों में नहीं किया बदलाव, नरम मौद्रिक रुख जारी रखेगा

Edited By: , October 8, 2021 / 12:36 PM IST

नई दिल्ली, आठ अक्टूबर (भाषा) भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शुक्रवार को उम्मीद के अनुरूप प्रमुख नीतिगत दर रेपो में कोई बदलाव नहीं किया और इसे रिकॉर्ड न्यूनतम स्तर पर बरकरार रखा।

पढ़ें- CRPF में हेड कॉन्स्टेबल के पदों पर भर्ती, 12वीं पास भी कर सकते हैं आवेदन

यह लगातार आठवां मौका है जबकि केंद्रीय बैंक ने रेपो दर को यथावत रखा है। इसके साथ केंद्रीय बैंक ने कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेतों के बीच अपने मौद्रिक रुख को नरम बनाये रखने का भी फैसला किया।

पढ़ें- जिम कॉर्बेट का नाम बदलकर किया जा सकता है रामगंगा नेशनल पार्क, सुगबुगाहट तेज

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अगुवाई वाली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने आखिरी बार 22 मई, 2020 को रेपो दर में बदलाव किया था। रेपो दर वह दर है जिस पर वाणिज्यक बैंक केंद्रीय बैंक से फौरी जरूरतों को पूरा करने के लिये अल्पकालीन कर्ज लेते हैं।

पढ़ें- देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 21,257 नए केस, 271 की मौत.. एक्टिव मरीजों की संख्या 205 दिनों में सबसे कम 

दास ने द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा की घोषणा करते हुए कहा, ‘‘एमपीसी ने रेपो दर को चार प्रतिशत पर कायम रखने का फैसला किया है।’’ इसी के अनुरूप रिवर्स रेपो दर भी 3.35 प्रतिशत पर कायम रखा गया है।

पढ़ें- पेट्रोल-डीजल के दामों में फिर लगी ‘आग’, आज कितनी बढ़ गई कीमत.. SMS के जरिए जानिए आपके शहर में क्या है भाव 

दास ने कहा कि एमपीसी ने एकमत से ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि वृद्धि को समर्थन तथा मुद्रास्फीति को लक्ष्य के दायरे में रखने के लिए केंद्रीय बैंक ने अपने नरम रुख को भी जारी रखने का फैसला किया है।

पढ़ें- शॉर्ट फिल्म बनाकर E-FIR एप्लिकेशन लॉन्च, E-FIR दर्ज करने वाला चौथा प्रदेश होगा मध्यप्रदेश

रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 9.5 प्रतिशत की वृद्धि दर के अनुमान को भी कायम रखा है।