569 अंक की बढ़त के साथ पहली बार 61,000 के ऊपर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी भी रिकार्ड ऊंचाई पर

Sensex closed above 61,000 for the first time with a gain of 569 points, Nifty also at record high

Edited By: , October 14, 2021 / 05:23 PM IST

मुंबई, 14 अक्टूबर (भाषा) शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला छठे कारोबारी दिवस बृहस्पतिवार को भी जारी रहा और बीएसई सेंसेक्स 569 अंक उछलकर नई ऊंचाई पर बंद हुआ। वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख और अनुकूल वृहत आर्थिक आंकड़े के बीच एचडीएफसी लि., एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक तथा आईटीसी शेयरों की अगुवाई में यह तेजी आयी।

read more : Sarkari Naukri, ग्रामीण विकास विभाग में 400 से अधिक पदों पर भर्ती, जल्द करें आवेदन

तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 568.90 अंक यानी 0.94 प्रतिशत चढ़कर पहली बार 61,305.95 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, एनएसई निफ्टी 176.80 अंक यानी 0.97 प्रतिशत की तेजी के साथ नये रिकार्ड स्तर 18,338.55 अंक पर बंद हुआ> सेंसेक्स के शेयरों में करीब तीन प्रतिशत की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में आईटीसी रहा। इसके अलावा एचडीएफसी बैंक, पावर ग्रिड, आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक और एनटीपीसी में भी प्रमुख रूप से तेजी रही।

read more : गलत खाते में हो गए पैसे ट्रांसफर? तो घबराएं नहीं- ऐसे होंगे वापस.. देखिए पूरा प्रोसेस

दूसरी तरफ टीसीएस, एचसीएल टेक, बजाज फाइनेंस और एशियन पेंट्स गिरावट वाले शेयरों में शामिल हैं। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘घरेलू बाजार में लगातार तेजी का माहौल बना हुआ है। वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख, मुद्रास्फीति के अनुकूल आंकड़े और बेहतर तिमाही परिणाम से आईटी शेयरों में तेजी से बाजार में मजबूती रही।’’

read more : ‘सीएम भूपेश बघेल अगला चुनाव UP से लड़ेंगे’ लखीमपुर में मारे गए किसानों को 50 लाख मुआवजा देने को लेकर रमन सिंह ने साधा निशाना

थोक कीमत आधारित मुद्रास्फीति सितंबर महीने में नरम होकर 10.66 प्रतिशत रही। मुख्य रूप से खाद्य वस्तुओं के दाम नरम होने से थोक महंगाई दर कम हुई है। हालांकि कच्चे तेल के दाम में तेजी बनी हुई है।खाद्य वस्तुओं के दाम कम होने से खुदरा मुद्रास्फीति भी सितंबर महीने में घटकर पांच महीने के निम्न स्तर 4.4 प्रतिशत पर रही। नायर ने कहा कि बैंक शेयरों में भी तेजी में योगदान दिया और दूसरी तिमाही के वित्तीय परिणाम आने को देखते हुए इस पर निवेशकों की नजर बनी रह सकती है।

read more : दशहरे की खुशियों पर पानी फेर सकती है बारिश, इन जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी

एशिया के अन्य बाजारों में सियोल और टोक्यो मजबूत लाभ के साथ बंद हुए। वहीं शंघाई बाजार नुकसान में रहा। यूरोप के प्रमुख बाजारों में दोपहर कारोबार में सकारात्मक रुख रहा। इस बीच, अंतररराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.02 प्रतिशत बढ़कर 84.03 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।