Captain Panda went for the flying after Captain Pankaj Jaiswal

कैप्टन पंकज जायसवाल के बाद फ्लाइंग के लिए गए थे कैप्टन पांडा, टेकऑफ करते ही धड़ाम से गिरा हैलीकॉप्टर

कैप्टन पंकज जायसवाल के बाद फ्लाइट के लिए गए थे कैप्टन पांडा! Captain Panda went for the flight after Captain Pankaj Jaiswal

Edited By: , May 13, 2022 / 12:52 AM IST

रायपुर: Captain Panda went for flying छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर स्थिति स्वामी विवकेनंद एयरपोर्ट में हैलीकॉप्टर क्रैश हो गया, जिसमें पायलट और को पायलट की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि नाइट फ्लाइंग की ट्रेनिंग चल रही थी, इसी दौरान हेलीकॉप्टर आगस्त 109 क्रैश हो गया। फिलहाल एटीसी ने रायपुर एयरपोर्ट पर विमानों की लैंडिंग रोक दी है और एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों ने ब्लैक बॉक्स को कब्जे में ले लिया है, जिसकी जांच के बाद ही हादसे की वजह सामने आएगी।

Read More: नाइट फ्लाइंग ट्रेनिंग के दौरान हुआ हादसा, एयरपोर्ट अथॉरिटी ने कब्जे में लिया हेलीकॉप्टर का ब्लैक बॉक्स

नाइट फ्लाइंग ट्रेनिंग के दौरान हुआ हादसा

Captain Panda went for flying मिली जानकारी के अनुसार कैश होने वाला हेलीकॉप्टर अगस्ता 109 था और यह 2006 का मॉडल था। बताया जा रहा है कि हिमालयन पुत्र एविएशन कंपनी के पायलट ट्रेनिंग देने के लिए आए थे और देर रात नाइट फ्लाइंग ट्रेनिंग की जा रही थी। बताया गया कि कैप्टन जयसवाल फ्लाइंग करके लौट चुके थे और इसके बाद कैप्टन पंडा फ्लाइंग पर गए थे और इसी दौरान रनवे पर ये हादसा हो गया।

Read More: जब छत्तीसगढ़ का ‘मैना’ हेलीकॉप्टर हुआ था क्रैश, चार लोगों की हो गई थी मौत

छत्तीसगढ़ में किया जा स​कता है कैप्टन पांडा का अंतिम संस्कार

बताया जा रहा है कि कैप्टन पांडा साल 2010 से छत्तीसगढ़ में अपनी सेवाएं दे रहे थे और वे काफी मिलनसार थे। उनके शासन—प्रशासन सहित सभी अधिकारियों से अच्छे संबंध थे। कैप्टन पांडा ओडिशा के रहने वाले थे इस लिहाज से ये माना जा रहा है कि उनका अंतिम संस्कार ओडिशा में किया गया जाएगा। लेकिन कहा ऐसा भी जा रहा है कि वे 10 साल से अधिक समय तक छत्तीसगढ़ में अपनी सेवाएं दे चुके हैं, तो उनका अंतिम संस्कार छत्तीसगढ़ में ही किया जा सकता है। फिलहाल इस संबंध में अभी किसी भी तौर पर अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

Read More: परेश रावल के बेटे ने चित्रकोट जलप्रपात से लगाई 15 बार छलांग, वजह जानकर नहीं होगा यकीन… 

आगे भी प्रभावित हो सकती है विमान सेवाएं

बता दें कि हादसे के बाद एटीसी ने रायपुर एयरपोर्ट पर विमानों की लैंडिंग रोक दी गई है और हेलीकॉप्टर का ब्लौक बॉक्स भी कब्जे में ले लिया गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि हादसा रनवे पर हुआ है और हादसे की जांच के बाद ही मलबा हटाया जाएगा, लेकिन अभी तक डीजीसीए की ओर से कोई जांच दल नहीं भेजा गया था। तो इस लिहाज से ये माना जा सकता है कि विमान सेवा आगे प्रभाविज हो सकती है।

Read More: Raipur के कमल विहार में ये कैसा खेल ? प्लॉट आवंटन पर कई सवाल, बिना विज्ञापन टेंडर की प्रक्रिया पूरी

 

#HarGharTiranga