राजधानी में निशाने पर मासूम! मोहल्ले से अचानक लापता हुई 8 साल की बच्ची, इधर मासूम से बुजुर्ग ने की हैवानियत |

राजधानी में निशाने पर मासूम! मोहल्ले से अचानक लापता हुई 8 साल की बच्ची, इधर मासूम से बुजुर्ग ने की हैवानियत

चौंकाने वाली बात यह है की शिकायत के 24 घंटे घंटे बाद भी विधानसभा थाना पुलिस ने परिजनों से जाकर न तो पूछताछ की है और न ही पड़ताल करने का प्रयास किया है।

Edited By: , December 9, 2022 / 12:03 PM IST

crime against child: रायपुर। राजधानी रायपुर में बच्चों के प्रति अपराध के मामलों में इजाफा देखा जा रहा है, लगातार हो रही इन घटनाओं से लोक दहशत में हैं। सड्डू इलाके में स्थित वृंदावन bsup कॉलोनी से 8 साल की बच्ची के लापता होने का मामला सामने आया है.. चौंकाने वाली बात यह है की शिकायत के 24 घंटे घंटे बाद भी विधानसभा थाना पुलिस ने परिजनों से जाकर न तो पूछताछ की है और न ही पड़ताल करने का प्रयास किया है।

इधर बच्ची के लापता होने से मां-बाप का रो-रो कर बुरा हाल है.. लापता बच्ची के पिता राजू यादव जो की पेशे से अल्मारी बनाने वाले करीगर हैं ने बताया की बेटी दुर्गा यादव शाम 6 बजे तक घर के सामने ही खेल रही थी उसके बाद से लौटी नहीं…मां अल्पना लोगों के घर घरेलू काम करती है इसलिए बाहर थी।

read more: weather update 2022: प्रदेश में और बढ़ेगी ठंड, 8.6 डिग्री पर पहुंचा राजधानी का पारा, कई जिलों में शीतलहर के हालात

वहीं पड़ोंसियों ने बताया की शाम के समय मोहल्ले में एक कार भी खड़ी थी..लेकिन शाम के बाद वह दिखाई नहीं दी..उसी समय बच्ची भी लापता हुई है..इसकी जांच होनी चाहिए लेकिन पुलिस अधिकारियों के मौके पर नहीं पहुंचने से अभी तक पतसाजी ही शुरु नहीं हो पाई है

crime against child :वहीं एक अन्य घटना में पंडरी थाना इलाके में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है…. पंढरी थाना इलाके में 76 साल के एक बुजुर्ग पर 6 साल की बच्ची से दुष्कर्म का आरोप लगा है…पड़ोसियों की सूचना पर शिकायत पर घरवालों ने इस पर संज्ञान लिया, जिसके बाद मेडिकल जांच कराई गई तो इस आरोप की पुष्टि हुई।

read more: #NindakNiyre: हिमाचल के पहाड़ों से नए राजनीतिक रास्ते पर भूपेश बघेल

इस मामले में चौंकाने वाली बात है कि आरोपी की पहचान होने के 3 दिन बाद भी पुलिस उसे अरेस्ट नहीं कर पाई है। बता दें कि संवेदनशील मामला होने के कारण आरोपी और पीड़ित बच्ची से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने पर रोक है।