छत्तीसगढ़ में मिलेट मिशन की शुरुआत , राज्य में मिलेट उत्पादन को बढ़ाने IIMR से MOU..जानिए क्या होगा फायदा

Millet Mission launched in Chhattisgarh MOU from IIMR to increase millet production in the state..Know what will be the benefit

Edited By: , September 10, 2021 / 01:51 PM IST

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में मिलेट मिशन की शुरूआत कर दी है। राज्य में मिलेट उत्पादन को बढ़ाने IIMR से MOU  किया गया।

पढ़ें- बुरी खबर, कार निर्माता कंपनी Ford भारत से समेट रही कारोबार, क्या पड़ेगा असर.. जानिए

मिशन मिलेट के अंतर्गत आईआईएमआर एवं राज्य के विभिन्न जिलों के मध्य होने वाले एमओयू में वर्चुअल रूप से शामिल हुए।

पढ़ें- 9/11.. अमेरिका में मातम, तालिबान में जश्न.. आतंकी हमले के दिन सरकार गठन का जश्न मनाएगा तालिबान

छत्तीसगढ़ बनेगा देश का मिलेट हब: भूपेश बघेल
 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में कोदो, कुटकी एवं रागी की उत्पादकता बढ़ाने इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मिलेट रिसर्च हैदराबाद और 14 जिलों के साथ एमओयू
 आई.आई.एम.आर. मिलेट उत्पादन बढ़ाने छत्तीसगढ़ के किसानों को देगा तकनीकी जानकारी, उच्च क्वालिटी के बीज, सीड बैंक की स्थापना में मदद और प्रशिक्षण
 मिलेट उत्पादन बढ़ाने के लिए राज्य सरकार ने की उपज की सही कीमत और आदान सहायता देने के साथ समर्थन मूल्य पर खरीदी, प्रोसेसिंग और मार्केटिंग की पहल
 मिलेट के प्रसंस्करण और वेल्यूएडिशन से किसानों, महिला समूहों और युवाओं को मिलेगा रोजगार
 छत्तीसगढ़ के 20 जिलों के 85 विकासखण्डों में होता है मिलेट्स का उत्पादन
 प्रथम चरण में 14 जिलों कांकेर, कोण्डागांव, बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, सुकमा, नारायणपुर, राजनांदगांव, कवर्धा, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही, बलरामपुर, कोरिया, जशपुर और सूरजपुर जिलों के साथ किया गया एम.ओ.यू.
 मिलेट मिशन में आगामी पांच वर्षों में खर्च किए जाएंगे 170 करोड़ 30 लाख रूपए