वीर सावरकर को भारत रत्न दिलाने के वायदे पर विवाद, पोस्टर लगाकर कांग्रेस ने बताया कायर-अंग्रेजों का एजेंट

वीर सावरकर को भारत रत्न दिलाने के वायदे पर विवाद, पोस्टर लगाकर कांग्रेस ने बताया कायर-अंग्रेजों का एजेंट

Edited By: , March 26, 2021 / 05:00 PM IST

इंदौर। महाराष्ट्र चुनाव में बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में विनायक दामोदर सावरकर को भारत रत्न दिलाने का वादा किया है, इसके बाद सावरकर को लेकर चर्चाओं का दौर एक बार फिर से तेज हो गया है। कांग्रेस सावरकर को कायर और अंग्रेजों का एजेंट करार देती है, ऐसे में भाजपा की घोषणा के बाद राजनीतिक गलियारों में कांग्रेस ने इसका विरोध भी शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें- कांग्रेस के कैशियर- एकाउंटेट समेत कई कर्मचारियों के घर आयकर का छापा…

प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कांग्रेसियों ने भाजपा के खिलाफ पोस्टर लगाया है। पोस्टर में लिखा है की महात्मा गांधी की हत्या की साजिश में संलिप्त अंग्रेजों से माफी मांगने वाले सावरकर को भारत रत्न देने की घोषणा गलत है। रीगल स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास पोस्टर के लगाने के 15 मिनट के भीतर नगर निगम का अमला उसे हटाने के लिए पहुंचा। इस दौरान कांग्रेसी और नगर निगम के कर्मचारियों के बीच तीखी बहस भी हुई ।

ये भी पढ़ें- सरकार का ऐलान, नौकरी से नहीं निकाले जाएंगे होम गार्ड्स के 25 हजार ज…

कांग्रेसियों ने निगम कमिश्नर आशीष सिंह और निगम उपायुक्त महेंद्र सिंह को फोन कर पोस्टर हटाने से रोकने केलिए कर्माचरियों को आदेशित करने को कहा,लेकिन बात नही बनी और पोस्टर को हटा दिया गया। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव विवेक खंडेलवाल ने निगम कर्मचारियों को भाजपा की विचारधारा का करार किया और भाजपा के खिलाफ नारेबाजी की।

<iframe width=”560″ height=”315″ src=”https://www.youtube.com/embed/GGl8YWvR4ac” frameborder=”0″ allow=”accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture” allowfullscreen></iframe>