पोर्न फिल्मों को बैन किए जाने की जरुरत : सीएम, महिलाओं से दरिंदगी करने वालों को नेस्तनाबूत किया जाएगा | Porn movies need to be banned: CM Those who torture women will be destroyed

पोर्न फिल्मों को बैन किए जाने की जरुरत : सीएम, महिलाओं से दरिंदगी करने वालों को नेस्तनाबूत किया जाएगा

पोर्न फिल्मों को बैन किए जाने की जरुरत : सीएम, महिलाओं से दरिंदगी करने वालों को नेस्तनाबूत किया जाएगा

: , March 28, 2021 / 02:20 PM IST

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने आज मिंटो हाल में आयोजित महिला सुरक्षा सम्मान कार्याक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल किए जाने की बात कही। सीएम ने कहा कि बेटियों की सुरक्षा और सम्मान के लिए समाज की मानसिकता बदलना जरूरी है।

सम्मान समारोह में सीएम शिवराज ने अपराधियों को दो टूक चेतावनी देते हुए कहा कि महिलाओं के साथ अपराध करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, इन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। छोड़ेंगे नहीं, नेस्तनाबूत कर देंगे, सरकार मूकदर्शी नहीं रहेगी, सरकार का संकल्प है, ऐसे अपराधियों को नेस्तनाबूत कर देना, तबाह कर देना, ऐसे लोगों को छोड़ेंगे नहीं।

ये भी पढ़ें- शुभ घड़ी आई… तीन फेज में पूरी होगी कोरोना टीकाकरण की प्रक्रिया, जानें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने  कहा कि मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य बना  है, जहां हमने कानून बनाया है, यदि कोई किसी बेटी या बहन के साथ दरिंदगी करेगा  तो उसे सीधे फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा।

सम्मान समारोह में सीएम शिवराज ने कहा कि सार्वजनिक परिवहन की सेवा में पैनिक बटन अनिवार्य होगा । बटन दबाते ही मुसीबत में पड़ी महिलाओं को सुरक्षा मिलेगी । ओला- उबर में भी पैनिक बटन में अनिवार्य किया गया है। सीएम शिवराज ने कहा कि गायब बच्चों के मामले में पुलिस को विवेचना की  जानकारी देनी होगी।

ये भी पढ़ें- महिला के साथ दिल्ली की निर्भया जैसी वारदात, गैंगरेप के बाद दरिंदों ने की क्रूरता, गृहमंत्री का

सम्मान समारोह में सीएम शिवराज ने पोर्न फिल्मों को बैन किए जाने की  बात कही है। सीएम ने कहा कि  इससे हमारे बच्चों का मन दूषित हो रहा है । इसे रोकने के लिए हम आउट ऑफ बॉक्स थिंकिंग करना पड़ेगा । कैसे टेक्नालॉजी का उपयोग कर हम इसे रोक सकते हैं। समाज की मानसिकता को बदलना पड़ेगा। ये अभियान समाज को जागरुक करने का अभियान है ।

सीएम ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि समाज भी अजीब है, बेटे पर कोई रोक टोक नहीं और बेटी पर रोक- टोक लगाई जाती है। कहीं घटना हो जाए,तो बेटी को दोष दिया जाता है, और कुछ हो जाए तो किसी से कहना नहीं। ये कैसा समाज, समाज को बदलना होगा,तभी बेटियां बचेंगी। माध्यम और जनसंपर्क महिला जागरुकता के लिए फिल्म तैयार करें।

 

#HarGharTiranga