देश का पहला ऐसा राज्य, कल से सभी कोविड पाबंदियां खत्म, देखें नई गाइडलाइन

Corona rules : कोविड महामारी के चलते 25 मार्च, 2020 को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था..

Edited By: , February 15, 2022 / 05:34 PM IST

गुवाहाटी। Assam lifts Covid-related restrictions  :  असम ने मंगलवार को कोविड संबंधी सभी पाबंदियां हटा लीं जिससे 25 मार्च, 2020 से पहले वाली स्थिति राज्य में वापस लौट आयी। कोविड महामारी के चलते 25 मार्च, 2020 को राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था।

यह भी पढ़ें:  शिर्डी साईं बाबा मंदिर आतंकियों ने निशाने पर, आतंकी ने कबूली रेकी करने की बात, अवैध हथियार, विस्फोटक और गोला बारुद बरामद

अधिकारियों ने दावा किया कि असम सभी कोविड पाबंदियां वापस लेने वाला देश का पहला राज्य है। उनके अनुसार, मंगलवार को सुबह छह बजे से सभी प्रतिबंध हटा लिये गये तथा रात्रिकालीन कर्फ्यू एवं सामाजिक एवं धार्मिक कार्यक्रमों एवं शिक्षण संस्थानों पर रोक अब नहीं रहेगी।

यह भी पढ़ें: Youtube संसद टीवी का अकाउंट किया बंद, हैकर्स ने नाम बदलकर लिख दिया था Ethereum

Assam lifts Covid-related restrictions  : मुख्य सचिव जिश्नु बरूआ की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार, हालांकि मास्क लगाना, एक-दूसरे के दूरी रखना, नियमित रूप से साबुन से हाथ धोना, सार्वजनिक कार्यक्रम स्थलों पर सेनेटाइजर का उपयोग अनिवार्य है तथा यह अगले आदेश तक प्रभाव में रहेगा।

आदेश में कहा गया है कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं लगाने और थूकने पर 1000 रूपये का जुर्माना लगाया जाएगा तथा सभी जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के वास्ते कोविड उपयुक्त आचरण का अनुपालन कराने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर निगरानी सुनिश्चित करेंगे। अधिकारियों ने कहा कि शिक्षा विभाग विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में प्रत्यक्ष अध्यापन के लिए नये दिशानिर्देश जारी करेगा।

यह भी पढ़ें:  10वीं की परीक्षा में शामिल होने से छात्राओं ने किया इंकार, कहा- हिजाब हटाने के लिए कहा, लेकिन ऐसा नहीं कर सकते

हवाई अड्डों, रेलवे स्टेशनों, सीमा पर आर-पार संबंधी मार्गों एवं अस्पतालों में अनिवार्य जांच पर मंगलवार को रोक लगा दी गयी लेकिन जिन व्यक्तियों में लक्षण हैं उनसे किसी भी कोविड जांच केंद्र पर स्वेच्छा से जांच कराने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें:  लालू फिर जाएंगे जेल! चारा घोटाले के एक और मामले में दोषी करार, 139 करोड़ के अवैध निकासी का मामला