देश के इन राज्यों में दिख रहा भारत बंद का असर, जानें किन मांगों को लेकर हो रहा प्रदर्शन

BAMCEF calls for Bharat Bandh today : देश के इन राज्यों में दिख रहा भारत बंद का असर, जानें किन मांगों को लेकर हो रहा प्रदर्शन.....

Edited By: , May 25, 2022 / 12:48 PM IST

Bharat Bandh Andolan : नई दिल्ली। आज BAMCEF (ऑल इंडिया बैकवर्ड एंड माइनॉरिटी कम्युनिटीज एम्प्लाइज फेडरेशन) ने भारत बंद का ऐलान किया है। BAMCEF ने ये भारत बंद का ऐलान केंद्र सरकार से अन्य पिछड़ी जातियों की जाति आधारित जनगणना कराने की मांग को लेकर किया है। बता दें इस भारत बंद के लिए बहुजन मुक्ति पार्टी और BAMCEF मिलकर काम कर रहे हैं। इसके साथ ही इन्हें बहुजन क्रांति मोर्चा का भी सहयोग मिल रहा है। BAMCEF ने भले ही तमाम मुद्दों को लेकर भारत बंद की घोषणा की हो लेकिन मुख्य रूप से ये जातीय जनगणना की मांग है। बता दें बामसेफ द्वारा ये भारत बंद केंद्र सरकार द्वारा अन्य पिछड़ी जातियों की जाति आधारित जनगणना कराने से मना करने के चलते किया जा रहा है।

Read More : गेहूं निर्यात बैन से दुनिया में मचा हाहाकार, भारत से IMF चीफ ने लगाई गुहार, कहा- बैन हटा लीजिए नहीं तो…

ये हैं बंद के मुख्य कारण

  1. जाति के आधार पर हो जनगणना
  2. किसानों को मिले एमएसपी की गारंटी
  3. चुनाव में बंद हो ईवीएम को इस्तेमाल
  4. पर्यावरण संरक्षण की आड़ में आदिवासी लोगों के विस्थापन न हो
  5. एनआरसी और सीएए को रोका जाए
  6. निजी क्षेत्र में आरक्षण लागू हो
  7. फिर से लागू हो पुरानी पेंशन योजना
  8. लोगों को टीका लगवाने के लिए मजबूर न किया जाए
  9. बड़े दलों का नहीं मिला सहयोग

Read More : चुनाव आयोग ने इस प्रदेश में वोटिंग करने के लिए कम किया एक घंटे का समय, अब इतने बजे तक कर सकेंगे मतदान

BAMCEF की तरफ से इस भारत बंद में जातीय जनगणना की मांग को लेकर कुछ दलित राजनीतिक पार्टियों ने ही समर्थन किया है। बता दें इस घोषणा का किसी बड़े राजनीतिक दल का समर्थन नहीं मिला है। बामसेफ (BAMCEF) को भारत बंद आंदोलन के लिए राष्ट्रीय परिवर्तन मोर्चा, भारत मुक्ति मोर्चा, बहुजन मुक्ति मोर्चा और कई अन्य संगठनों ने सहयोग मिला है। बामसेफ के अनुसार उनकी मुख्य मांग यही है कि जनगणना में जातियों की संख्या को गिनने की बात भी शामिल की जाए। जातिगत जनगणना की मांग को लेकर बामसेफ के द्वारा भारत बंद के आह्वान को किसी बड़े दल का समर्थन अभी तक नहीं मिल सका है। जातिगत जनगणना की मांग करने वाले तमाम दल बामसेफ के फैसले को बेहतर बता रहे हैं लेकिन इसके साथ ही वे सड़क पर उतरने और अपना समर्थन देने से बच रहे हैं।

दुकानों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट होंगे प्रभावित

बता दें इस भारत बंद आंदोलन से देश की दुकानें और पब्लिक ट्रांसपोर्ट ज्यादा प्रभावित होंगी। इसकी वजह से ऍम जनता को इससे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ेगा। इसके साथ ही बामसेफ और बाकि समर्थकों ने सोशल मीडिया के माध्यम से दुकानदारों से अपील की है कि वे अपनी दुकानों को बुधवार को बंद रखें।

Read More : घाटी में आतंकवादियों से मुठभेड़ में 1 जवान शहीद, 3 आतंकी ढेर 

इन राज्यों में दिख रहा असर

बिहार में इसका असर दिख सकता है, क्योंकि वहां की राजनीति में जातिगत जनगणना का मुद्दा कुछ अधिक ही छाया हुआ है। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव काफी समय से इस मुद्दे पर सरकार को घेर रहे हैं। वहीं ईवीएम का मुद्दा यूपी में अधिक उठ रहा था इसलिए बंद का असर थोड़ा यूपी में भी दिख सकता है।

Read More : झीरम नक्सली हमले की 9वीं बरसी पर नक्सलियों ने मचाया उत्पात, यहां के तेंदूपत्ता फड़ में लगाई आग, संग्राहकों में भारी दहशत