सीबीआई करेगी बालासोर रेल हादसे की जांच, रेलवे बोर्ड की तरफ से की गई CBI जांच की सिफारिश

CBI will investigate Balasore train accident: केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि अब तक जो जानकारी मिली है उसके बाद रेलवे बोर्ड की तरफ से इस मामले की CBI जांच की सिफारिश की गई है।

CBI will investigate Balasore train accident भुवनेश्वर। केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भुवनेश्वर में कहा है कि रेलवे बोर्ड की तरफ से इस मामले की CBI जांच की सिफारिश की गई है। उन्होंने बताया कि दो लाइन में पटरी की मरम्मत का काम लगभग हो गया है। इस हादसे में जिन लोगों की मृत्यु हुई है उनके परिवार से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है।

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि अब तक जो जानकारी मिली है उसके बाद रेलवे बोर्ड की तरफ से इस मामले की CBI जांच की सिफारिश की गई है।

इधर कोलकाता में ममता बनर्जी ने आज रेल हादसे को लेकर मीडिया से चर्चा की। उन्होंने कहा कि कल जब मैंने एंटी कोलिशन वाली बात का जिक्र किया तो रेल मंत्री चुप क्यों थे? दो तरह के बयान आ रहे हैं, दाल में कुछ काला है। मैं चाहती हूं जो सच है वह सामने आए। मुझे रेल मंत्री का इस्तीफा नहीं चाहिए।

read more: बड़ी खबर! कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, कोर्ट से मिला बड़ा झटका..जानें पूरा मामला 

सीएम ने कहा कि हम लोगों ने बहुत मेहनत से काम किया है। जितनी भी मेट्रो ट्रेन है हमने हमारे समय में बनाई। मुंबई रेलवे विकास कॉरपोरेशन किसने बनाया था? अपने समय में इसे मैंने बनाया था। अगर मैं नहीं होती तो दिल्ली मेट्रो शुरु ही नहीं होती।

CBI will investigate Balasore train accident

पश्चिम बंगाल CM ममता बनर्जी ने आगे कहा कि मेरे पास एक मैसेज आया जिसमें एक बड़ी लिस्ट थी कि नीतीश, लालू और मेरे समय में कितने लोग मारे गए? क्या कभी इन लोगों ने सोचा कि मैंने अपने समय में रेलवे को कितना आधुनिक किया। सारी जानकारी गलत है…मैं पूछती हूं कि गोधरा में कितने लोग मारे गए थे?:

read more: छत्तीसगढ़ में प्री मानसून की दस्तक! तेज हवा के साथ शुरू हुई बारिश, आकाशीय बिजली की चपेट में आए 3 युवक 

पश्चिम बंगाल CM ममता बनर्जी ने कहा कि कल मेरे साथ रेल मंत्री और धर्मेंद्र प्रधान दोनों खड़े थे लेकिन मैंने कुछ नहीं कहा, मैं बहुत कुछ कह सकती थी क्योंकि मैं खुद रेल मंत्री रही हूं…कोरोमंडल एक्सप्रेस और बेंगलुरु-हावड़ा एक्सप्रेस में एंटी कोलिशन डिवाइस क्यों नहीं था? रेलवे को सिर्फ बेचने के लिए छोड़ दिया है।

सीएम ने कहा कि बालासोर दुर्घटना से बचकर जो लोग अपने घर आ गए हैं लेकिन ट्रॉमा में हैं उन्हें राज्य सरकार 10 हज़ार रुपए देगी और आने वाले तीन महीने तक प्रति परिवार को 2 हज़ार रुपए और राहत सामग्री दी जाएगी। बता दें कि ओडिशा के बालासोर में तीन-ट्रेन दुर्घटनास्थल में मरम्मत का काम जारी है।