पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाकर ‘केंद्र ने चली ऐसी चाल’! विपक्ष शासित राज्यों की बढ़ाई टेंशन

petrol and diesel prize: केंद्र सरकार ने पिछले छह महीने में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में दूसरी बार कटौती की है।

Edited By: , May 22, 2022 / 03:46 PM IST

petrol and diesel prize : केंद्र सरकार ने पिछले छह महीने में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में दूसरी बार कटौती की है। ऐसे में विपक्ष शासित राज्य सरकारों पर वैट घटाने का दबाव बढ़ गया है।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रस्तावित दौरे को लेकर बढ़ी विधायको की सक्रियता, परफार्मेंस ठीक करने में लगे जनप्रतिनिधि…

एक्साइज ड्यूटी में ताजा कटौती से महाराष्ट्र, राजस्थान और पश्चिम बंगाल जैसे विपक्ष शासित उन राज्यों में पेट्रोल-डीजल की कीमतें ज्यादा घटेंगी जहां वैट ज्यादा है, बनिस्बत कम वैट वाले राज्यों के। इसका कारण यह है कि राज्य पेट्रोल-डीजल पर वैट की दर एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य दूसरे शुल्कों के आधार पर तय करते हैं।

यह भी पढ़ें: TMC ने बांग्लादेशी महिला अलो रानी सरकार को भारतीय बताकर उतारा था चुनावी मैदान में, अब हाई कोर्ट ने सुनाया ये फैसला

petrol and diesel prize : विपक्ष केंद्र सरकार पर आरोप मढ़ता रहा है कि केंद्र सरकार कोविड से हलकान जनता पर महंगाई का बोझ डाल रही है। इसके लिए कोविड के बाद पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में इजाफे का भी हवाला दिया जा रहा है। अब जब एक्साइज ड्यूटी घटकर कोविड के वक्त से पहले के स्तर पर आ गया है तब बारी अब विपक्ष के दबाव में आने का है। जिन राज्यों ने 4 नवंबर, 2021 की एक्साइज ड्यूटी में कटौती के अनुकूल वैट नहीं घटाया था, उन पर अब डबल कटौती का दबाव बनेगा।

,