सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद, गोरखपुर शहर से भरेंगे पर्चा

गोरखपुर शहर से भरेंगे पर्चा! Chandrashekhar Azad to contest against Yogi Adityanath from Gorakhpur city seat

: , January 20, 2022 / 08:24 PM IST

नोएडा: Chandrashekhar Azad दलित नेता चंद्रशेखर आजाद गोरखपुर शहर सीट से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। उनकी आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) ने बृहस्पतिवार को यह घोषणा की। राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर शहर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार हैं। आजाद ने कहा कि वह भाजपा के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।

Read More: छत्तीसगढ़ में मिले ओमिक्रॉन वेरिएंट के 13 नए मरीज, अब तक कुल 21 संक्रमितों की पुष्टि

Chandrashekhar Azad पार्टी ने सोशल मीडिया पर एक बयान में कहा, ‘‘ ‘बहुजन हिताय-बहुजन सुखाय’ की बाबासाहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर और कांशीराम साहब की विचारधारा को आगे बढ़ाते हुए, आजाद समाज पार्टी (कांशीराम), गोरखपुर सदर (322) सीट से चंद्रशेखर आजाद को अपना उम्मीदवार घोषित करती है।’’ आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) की राष्ट्रीय कोर कमेटी के सदस्य मोहम्मद आकिब ने ‘पीटीआई-भाषा’ से इसकी पुष्टि भी की। साथ ही, उन्होंने बताया कि पार्टी का पंजीकृत नाम आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) है।

Read More: महिला कर्मचारी के साथ प्रभारी DEO परसराम चन्द्राकर का आपत्तिजनक वीडियो वायरल, शिक्षा विभाग ने किया निलंबित

इस बीच आजाद ने ट्वीट किया, ‘‘बहुत-बहुत धन्यवाद! मैं पिछले पांच साल से लड़ रहा हूं। मैं लड़ता रहूंगा। जय भीम, जय मंडल, बहुजन हिताय-बहुजन सुखाय।’’ आजाद (35), दलित अधिकार संगठन भीम आर्मी के सह संस्थापक हैं और वह इसके राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने मार्च 2020 में आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) की शुरुआत की थी, जिसके वह अध्यक्ष हैं। गोरखपुर सदर सीट के लिए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के छठे चरण यानी तीन मार्च को मतदान होना है। मतगणना 10 मार्च को होगी।

Read More: पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल, बदले गए कई जिलों के ASP और DSP, राज्य सरकार ने जारी किया आदेश 

आजाद हाल तक अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ चुनाव लड़ने के वास्ते गठबंधन के लिए बातचीत कर रहे थे, लेकिन उसके द्वारा केवल दो सीटों की पेशकश किये जाने पर बात नहीं बन पाई। इसके बाद, आजाद ने मंगलवार को कहा था कि उनकी पार्टी अब गठबंधन के लिए सपा से सम्पर्क नहीं करेगी, क्योंकि यह ‘‘आत्मसम्मान’’ का मामला है। उन्होंने कहा था कि वह चुनाव के लिए नए सहयोगी खोजने के लिए तैयार हैं।

Read More: 23 जनवरी को दो पालियों में होगी पर्यवेक्षक भर्ती परीक्षा, कोरोना संक्रमित अभ्यर्थी भी दे सकेंगे परीक्षा, निर्देश जारी