Kuber of black money.. 13 machines..40 hours and amount of 179 crores.. banks sent from container by filling notes in 80 boxes

काली कमाई का कुबेर.. 13 मशीनें..40 घंटे और 179 करोड़ की रकम.. 80 बक्सों में नोट भरकर कंटेनर से भेजे गए बैंक.. गिनती अब भी जारी

Kuber of black money.. 13 machines..40 hours and amount of 179 crores.. banks sent from container by filling notes in 80 boxes

: , December 25, 2021 / 08:43 AM IST

कानपुर, यूपी। 40 घंटे से पीयूष जैन के ठिकानों से अब तक 179 करोड़ से अधिक की नकदी गिनी जा चुकी थी। नोटों की गिनती में 30 से अधिक कर्मचारी, 13 मशीनें लगाई गई हैं। अभीतक गिनी जा चुकी रकम 80 बक्सों में भरकर स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में भिजवाई गई है।

पढ़ें- Heavy Discount: महंगी होने वाली है कारें.. 1 जनवरी 2022 से पहले इन कारों पर मिल रही ₹2.55 लाख तक की छूट

पीयूष के कन्नौज स्थित मकान से 1 करोड़ रुपये से अधिक के जेवर मिले है। कन्नौज में इत्र एवं कंपाउंड कारोबारी पीयूष जैन के घर शुक्रवार देररात भी डीजीजीआई की छापेमारी जारी रही। चाबियां न मिलने पर हथौड़ों से अलमारियां तोड़ी गईं।

पढ़ें- एक शरीर से जुड़े दो भाई.. मां-बाप ने भी छोड़ दिया था साथ.. अब काबिलियत के दम पर मिली सरकारी नौकरी

यहां से चार करोड़ रुपये और एक करोड़ के जेवर भी टीम को मिले हैं। टीम ने स्थानीय पुलिस से डुप्लीकेट चाबी बनाने वाले पिता-पुत्र को बुलवाया। वहीं रानू मिश्रा का मुनीम रहा विनीत गुप्ता भी इत्र और कंपाउंड के कारोबारी निकला। टीम उसे लेकर कचहरी टोला स्थित उसके घर पहुंची। यहां देररात तक उससे पूछताछ करती रही। यहां से भी दस्तावेज जब्त किए गए हैं। पीयूष जैन के आनंदपुरी स्थित घर की दीवारों से भी नोटों के बंडल मिले हैं। बुधवार को जब कार्रवाई शुरू हुई तो अफसरों को कई अलमारियां मिली थीं, जो बंद थीं

पढ़ें- नए साल में बाइक और स्कूटर के बढ़ने वाले हैं दाम.. जानिए कितनी ज्यादा होने वाली है कीमत

पीयूष जैन से कई बार अफसरों ने संपर्क किया लेकिन बात नहीं हो पाई। फिर दूसरे दिन अफसरों ने दूसरी चाभियों से ताले खोले। इनमें भारी मात्रा में कैश मिला। जिनकी गिनती शुक्रवार को चल ही रही थी। जांच के दौरान अधिकारियों को घर की कुछ दीवारें अन्य दीवारों से अलग लगीं। अधिकारियों ने दीवार को ठोंका तो खोखली लगी। दीवारों को तोड़ा गया तो अंदर से नोटों के बंडल गिरने लगे। ये बंडल पॉलिथीन और कागज में पैक थे। ये बंडल पांच सौ और सौ के नोटों के हैं।

पढ़ें- कारोबारी के घर से अब तक 150 करोड़ कैश जब्त, 8 मशीनें 24 घंटे में भी नहीं गिन पाईं नोट.. गिनती अब भी जारी.. वीडियो वायरल

कारखाने में छापे की जानकारी मिलते ही कारोबारी रानू मिश्रा स्कूटी से कारखाने पहुंचा। यहां टीम से कहासुनी भी हुई। इसके बाद टीम ने रानू के लैपटॉप से डाटा खोज निकाला। पुलिस से प्रिंटर मंगवाकर उसका प्रिंटआउट निकालकर फाइल बनाई। इसके बाद कारखाने में रानू और उसके मुनीम से घंटों पूछताछ की। रानू का कानपुर के अलावा कई शहरों में मकान है। वह पान मसाला बनाने वाली कानपुर की एक बड़ी कंपनी को कंपाउंड सप्लाई करता है।

पढ़ें- बीजेपी में कई दलों के बड़े नेता शामिल, अखिलेश, मायावती, प्रियंका को दिया बड़ा झटका

 

 

 

#HarGharTiranga