छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा को हटाने के मुद्दे पर आपस में भिड़े ग्रामीण, कई पुलिस कर्मी घायल

शिवाजी महाराज की प्रतिमा को हटाने के मुद्दे पर आपस में भिड़े ग्रामीण! Villagers clash over Shivaji Maharaj's statue, policemen injured

Edited By: , May 13, 2022 / 10:00 PM IST

मुंबई/जालना: Shivaji Maharaj’s statue महाराष्ट्र में जालना जिले के एक गांव में प्रवेश द्वार का नाम दिवंगत भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे के नाम पर रखे जाने तथा छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा के मुद्दे पर बृहस्पतिवार को दो समूहों में संघर्ष हो गया। अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि इस दौरान हुए पथराव में 30 से अधिक पुलिसकर्मियों को मामूली चोटें आई हैं और हिंसा के आरोप में 300 से अधिक लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

Read More: आत्मनिर्भर भारत सम्मेलन में श्रम विभाग को मिला पुरस्कार, राजभवन के सचिव को दिया प्रशस्ति पत्र 

छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा को लेकर झड़प

Shivaji Maharaj’s statue उन्होंने बताया कि भोकरदन तहसील के चंदई एको गांव में बृहपतिवार को हुई पथराव की घटना में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भी घायल हो गए। इस संबंध में एक अधिकारी ने कहा, ”प्रतिमा के मुद्दे पर और प्रवेश द्वार का नामकरण भाजपा नेता के नाम पर किए जाने को लेकर दो समूह आपस में भिड़ गए। हसनाबाद थाने की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हालात को काबू में करने का प्रयास किया।”

Read More: छत्तीसगढ़ में पहली बार होगा राष्ट्रीय कराटे प्रतियोगिता का आयोजन, देश भर के 2000 खिलाड़ी लेंगे भाग 

पुलिसकर्मियों पर पथराव किया

उन्होंने कहा, ”शाम के समय, एक समूह के लोगों ने एक सड़क को अवरुद्ध कर दिया और मार्ग को खाली कराने पहुंचे पुलिसकर्मियों पर पथराव किया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रांत देशमुख समेत 30 से अधिक पुलिसकर्मियों को मामूली चोटें आईं। भीड़ को काबू करने और कानून-व्यवस्था बहाल करने के लिए पुलिस को बल का प्रयोग करना पड़ा।”

Read More: UAE के राष्ट्रपति शाह शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान का निधन, देश में 40 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित… 

300 से अधिक लोगों पर मुकदमा दर्ज

अधिकारी ने बताया कि इस घटना में तीन पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए, जिसके बाद भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं में तीन प्राथमिकी दर्ज की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि 300 से अधिक लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है, जिनमें से 34 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। अधिकारी के अनुसार, झगड़ा तब शुरू हुआ जब एक समूह ने गांव के प्रवेश द्वार का नामकरण छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर किए जाने की मांग की और इस स्थान से शिवाजी महाराज की प्रतिमा को हटाने का विरोध किया।

Read More: कमर्शियल बिल्डिंग में लगी आग, 1 महिला की हुई मौत, राहत एवं बचाव कार्य जारी 

प्रतिमा को हटाने को लेकर हुआ विवाद

उन्होंने कहा, ” दूसरा समूह चाहता था कि द्वार का नाम मुंडे के नाम पर रखा जाए। जब स्थानीय अधिकारी मशीन लेकर प्रतिमा को हटाने के लिए पहुंचे तो तनाव बढ़ गया और पथराव हुआ।” ग्रामीणों ने कहा कि पुलिस की कार्रवाई में 10 लोग घायल हो गए जिसने आंसू गैस के गोले दागने के साथ ही हवा में गोलियां भी चलाईं।

Read More: पंचतत्व में विलीन हुए कैप्टन गोपाल कृष्ण पांडा, दिल्ली में होगा एपी श्रीवास्तव का अंतिम संस्कार, विमान हादसे में हुई थी दोनों की मौत….