सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत पर परमाणु हमला करने वाला था पाकिस्तान, पूर्व विदेश मंत्री का बड़ा खुलासा |

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत पर परमाणु हमला करने वाला था पाकिस्तान, पूर्व विदेश मंत्री का बड़ा खुलासा

बता दें कि भारत के युद्धक विमानों ने फरवरी 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को तबाह कर दिया था। यह ऐक्शन पुलवामा आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के 40 जवानों की शहादत के जवाब में लिया गया था।

Edited By: , January 25, 2023 / 10:17 AM IST

Pakistan was going to nuclear attack India after surgical strike

नईदिल्ली। अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर बड़ा दावा किया है। पोम्पिओ ने कहा कि तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया था कि पाकिस्तान फरवरी 2019 में बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के मद्देनजर परमाणु हमले की तैयारी कर रहा है और भारत ने भी अपनी जवाबी कार्रवाई की तैयारी कर ली है।

मंगलवार को बाजार में आई अपनी नई किताब ‘नेवर गिव एन इंच: फाइटिंग फॉर द अमेरिका आई लव’ में पोम्पिओ ने ये बातें लिखी हैं। वह लिखते हैं कि यह घटना तब हुई जब वह 27-28 फरवरी को अमेरिका-उत्तर कोरिया शिखर सम्मेलन के लिए हनोई में थे। उनकी टीम ने इस संकट को टालने के लिए भारत और पाकिस्तान दोनों के साथ पूरी रात काम किया।

read more:  प्रदेश में इस जिले ने तोड़ा 10 साल का रिकार्ड, इतने लाख मीट्रिक टन हुई धान खरीदी

परमाणु हमले के करीब पहुंच गई थी भारत-पाकिस्तान की  प्रतिद्वंद्विता

पोम्पिओ अपनी किताब में बताते हैं, ‘मुझे नहीं लगता कि दुनिया ठीक से जानती है कि फरवरी 2019 में भारत-पाकिस्तान की प्रतिद्वंद्विता किस कदर परमाणु हमले के करीब पहुंच गई थी। सच तो यह है कि मुझे इसका ठीक-ठीक उत्तर भी नहीं पता है, मुझे बस इतना पता है कि यह बहुत करीब था।’

बता दें कि भारत के युद्धक विमानों ने फरवरी 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को तबाह कर दिया था। यह ऐक्शन पुलवामा आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के 40 जवानों की शहादत के जवाब में लिया गया था।

read more: AIIMS के आयुष मरीज अब नहीं होंगे परेशान, अस्पताल परिसर में उपल्ब्ध कराई गई ये सुविधा

उस रात को कभी नहीं भूल सकता: पोम्पिओ

माइक पोम्पिओ ने आगे लिखा, ‘मैं उस रात को कभी नहीं भूलूंगा जब मैं वियतनाम के हनोई में था। परमाणु हथियारों पर उत्तर कोरियाई लोगों के साथ बातचीत करना पर्याप्त नहीं था। मानो वैसे ही भारत और पाकिस्तान ने उत्तरी सीमा पर कश्मीर क्षेत्र को लेकर दशकों से जारी विवाद के संबंध में एक-दूसरे को धमकाना शुरू कर दिया।’

भारत भी जवाबी कार्रवाई को तैयार था

पूर्व विदेश मंत्री ने लिखा, ‘हनोई में मैं अपने भारतीय समकक्ष के साथ बात करने के लिए जागा था। उनका मानना था कि पाकिस्तानियों ने हमले के लिए अपने परमाणु हथियार तैयार करना शुरू कर दिया है। उन्होंने मुझे सूचित किया कि भारत अपने जवाबी कार्रवाई पर विचार कर रहा है। मैंने उनसे कुछ नहीं करने और सबकुछ ठीक करने के लिए हमें थोड़ा वक्त देने के लिए कहा।’