महाराष्ट्र में सियासी संग्राम जारी! एकनाथ शिंदे ने डिप्टी स्पीकर को पत्र भेजकर की ये मांग

एकनाथ शिंदे ने डिप्टी स्पीकर को पत्र भेजकर की ये मांगः Uddhav Thackeray will leave CM post? Eknath Shinde wrote a letter to the Deputy Speaker

Edited By: , June 23, 2022 / 11:47 AM IST

मुंबईः महाराष्ट्र के सियासी संकट में शिवसेना के बागी नेता और कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे का पलड़ा भारी पड़ रहा है। अब प्रदेश में महाराष्ट्र में पैदा हुए राजनीति संकट के बीच अब राज्यपाल और विधानसभा स्पीकर की भूमिका अहम होती जा रही है। इसी बीच अब खबर आई है कि बगावत करने वाले वरिष्ठ शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने डिप्टी स्पीकर को पत्र भेजा है, जिसमें उन्होंने अपने आप को र्टी विधायकों का नया नेता बताया है। डिप्टी स्पीकर को पत्र भेजे गए पत्र में 34 विधायकों के साइन बताए जा रहे हैं। उन्होंने दावा किया है कि उनको पार्टी के 37 विधायकों का समर्थन है।>>*IBC24 News Channel के WhatsApp  ग्रुप से जुड़ने के लिए Click करें*<<

Read more : इस मशहूर क्रिकेटर ने की खुदकुशी की कोशिश, क्रिकेट बोर्ड पर लगाए गंभीर आरोप, हालत गंभीर

अपनी निजी आवास मातोश्री वापस पहुंचे उद्धव ठाकरे

वहीं महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे अपने परिवार के साथ सरकारी आवास खाली करके निजी आवास मातोश्री में वापस पहुंच गए हैं। मातोश्री पहुंचने पर उद्धव ठाकरे के बेटे और राज्य के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे ने भीड़ के बीच विक्ट्री साइन बनाकर पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया। राज्य में जिस तरह राजनीतिक हालात तेजी से बदल रहे हैं, उससे माना जा रहा है कि सीएम उद्धव ठाकरे विधानसभा को भंग करने की सिफारिश कर सकते हैं। शिवसेना नेता संजय राउत ने भी इस बात का संकेत दिया है।

Read more : गुरुवार के दिन कर लिये ये 5 काम, तो नहीं होगी धन की कमी, बिना रुकावट चढ़ेंगे सफलता की सीढ़ियां 

गुवाहाटी में ठहरे हैं शिवसेना के बागी विधायक

उद्धव ठाकरे सरकार से बगावत करने वाले शिवसेना और निर्दलीय समेत करीब 45 विधायक इन दिनों महाराष्ट्र से सैकड़ों किलोमीटर दूर गुवाहाटी के एक होटल में ठहरे हुए हैं। वहां पर उनके होटल की बुकिंग एक हफ्ता और आगे बढ़ा दी गई है। माना जा रहा है कि राज्य का यह राजनीतिक संकट अभी लंबा खिंच सकता है। फिलहाल उद्धव ठाकरे सरकार ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा नहीं सौंपा है। अगर वे इस्तीफा सौंपते हैं तो राज्यपाल आगे क्या फैसला लेते हैं, इस पर भी सबकी नजरें रहेंगी।