एयरपोर्ट पर तिरंगा बिछाकर नमाज पढ़ रहा था दुबई से लौटा युवक, फिर हुआ ये…

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक युवक द्वारा राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने का मामला सामने आया है। इस युवक को पुलिस के हवाले कर दिया

Edited By: , May 22, 2022 / 05:01 PM IST

नई दिल्ली। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक युवक द्वारा राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने का मामला सामने आया है। इस युवक को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। यह युवक दुबई से दिल्ली पहुंचा था और एयरपोर्ट पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा बिछाकर नमाज पढ़ रहा था। युवक को ऐसा करता देख केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों ने उसे हिरासत में लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। गिरफ्तार किए गए युवक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया, लेकिन उसे जमानत पर छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़े : सीएम भूपेश बघेल ने अत्याधुनिक राज्य कैंसर संस्थान का किया वर्चुअल भूमिपूजन, एक ही छत के नीचे होगा सभी प्रकार के कैंसर का इलाज

8 मई का है मामला

दरअसल यह पूरा मामला 8 मई का है। पुलिस अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, असम निवासी मोहम्मद तारिक अजीज नाम का युवक 8 मई को दुबई से दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचा था। उसे दिल्ली एयरपोर्ट से फ्लाईट से दीमापुर जाना था।

यह भी पढ़े : नदी में नहाने गए दो सगे भाइयों सहित तीन लोगों की मौत, गांव में पसरा मातम

राष्ट्रीय ध्वज बिछाकर पढ़ रहा था नमाज

इस दौरान शाम 5 बजे मोहम्मद तारिक एयरपोर्ट पर ही राष्ट्रीय ध्वज बिछाकर नमाज पढ़ने लगा। सीसीटीवी पर निगरानी कर रहे सीआईएसएफ कर्मियों को उसकी गतिविधि संदिग्ध लगी। जिसके बाद जवानों ने उसे तुरंत हिरासत में ले लिया। इसके बाद जब तारिक से पूछताछ की गई तो उसने ठीक से जवाब नहीं दिया, इसलिए सीआईएसएफ के जवानों ने उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने यात्री का पासपोर्ट, बोर्डिंग पास की फोटो कॉपी को जब्त कर लिया।

यह भी पढ़े : स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल में निकली बंपर भर्ती, नहीं देनी होगी कोई परीक्षा, सिर्फ दो दिन बाद है इंटरव्यू

इंसल्ट ऑफ नेशनल ऑनर एक्ट के तहत दर्ज किया गया मामला

पुलिस ने तारिक के पास रखे तिरंगे को भी अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने हवाई अड्डे पर लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगालने के बाद यात्री के खिलाफ इंसल्ट ऑफ नेशनल ऑनर एक्ट 1971 के तहत मामला दर्ज कर लिया। आरोपी को साफ निर्देश दिए गए हैं कि जांच के दौरान बुलाए जाने पर उसे दिल्ली आना होना। अगर वह पेश नहीं हुआ तो उसे फिर से गिरफ्तार किया जाएगा।