‘कुंवारी’ बताने के लिए यहां खुलेआम ‘वर्जिनिटी सर्जरी’ करा रही लड़कियां, सरकार लगाने जा रही बैन

ब्र‍िटेन में आजाद होकर जीने की शौकीन लड़कियां कम उम्र में ही अपना कौमार्य खो देती हैं। ऐसे में जब वहां शादी होती है तो वह 'वर्जिनिटी सर्जरी' का सहारा लेकर फिर से खुद को कुंवारी साबित करती हैं। अब वहां सरकार 'वर्जिनिटी सर्जरी' को बैन करने के लिए संसद में कानून पेश कर दिया है।

: , January 29, 2022 / 03:19 PM IST

virginity surgery

नई दिल्‍ली। ब्र‍िटेन में आजाद होकर जीने की शौकीन लड़कियां कम उम्र में ही अपना कौमार्य खो देती हैं। ऐसे में जब वहां शादी होती है तो वह ‘वर्जिनिटी सर्जरी’ का सहारा लेकर फिर से खुद को कुंवारी साबित करती हैं। अब वहां सरकार ‘वर्जिनिटी सर्जरी’ को बैन करने के लिए संसद में कानून पेश कर दिया है।

वेबसाइट WION की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटिश सरकार द्वारा “वर्जिनिटी रिपेयर” सर्जरी, जिसे हाइमेनोप्लास्टी के नाम से जाना जाता है, को अपराध बनाने के लिए एक कानून पेश किया गया है।
जिसके तहत हाइमन झिल्‍ली को फिर से बनाने का प्रयास अपराध की श्रेणी में रखा जाएगा।

हमारे 𝕎𝕙𝕒𝕥𝕤 𝕒𝕡𝕡 Group’s में शामिल होने के लिए यहां Click करें.

सोमवार को पेश किए गए स्वास्थ्य देखभाल बिल में संशोधन के तहत यह जोड़ा गया है कि कोई भी प्रक्रिया जो हाइमन के पुनर्निर्माण का प्रयास करती है, वह अवैध होगी। भले ही सर्जरी से गुजरने वाले व्यक्ति की सहमति हो या न हो।

दरअसल ब्र‍िटेन में क्लीनिक, निजी अस्पतालों और फार्मेसियों की बढ़ती संख्या कौमार्य की बहाली का वादा करने वाली विवादास्पद सर्जरी की पेशकश करती है। यहां बड़ी संख्या में लड़कियां इस सर्जरी को करवा रही हैं। इस सर्जरी का उद्देश्‍य होता है कि जब लड़की या महिला अपने पार्टनर से संबंध बनाए तो उसमें खून बहता है, चाहे वह पहले ही किसी से संबंध क्‍यों न बना चुकी हो, इसमें टिश्‍यू का उपयोग कर नकली हाइमन झिल्ली बनाई जाती है जिससे संबंध बनाते समय ब्लडिंग होती है।

ये भी पढ़ें: ‘राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना’ के शुभारंभ के लिए राहुल गांधी को दिया गया न्योता, ‘सेवाग्राम’ के भूमिपूजन कार्यक्रम का भी आयोजन

चूंकि सरकार पिछली जुलाई में कौमार्य परीक्षण को अपराध घोषित कर चुकी थी इसलिए डॉक्टरों और नर्सों ने “वर्जिनिटी रिपेयर” सर्जरी को गैरकानूनी घोषित करने का आह्वान किया था, इन प्रथाओं में से किसी एक में शामिल होने के लिए इसे महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा का एक रूप माना जाता है।

डॉक्टरों के मुताबिक, लड़कियां यह सर्जरी इसलिए भी करवाती हैं ताकि उनके पति को यह ना पता लगे कि वह शादी से पहले भी यौन संबंध बना चुकी हैं। इस सर्जरी को प्राइवेट अस्पताल में करवाने पर 50 से 60 हजार रुपये का खर्च आता है, जिसमें करीब आधा घंटा लगता है।