High Court will seize the records of 23 nursing colleges

नर्सिंग कॉलेजों का रिकॉर्ड होगा जब्त, हाईकोर्ट में पेश करनी होगी मान्यता संबंधी जानकारी

नर्सिंग कॉलेजों का रिकॉर्ड होगा जब्त, हाईकोर्ट में पेश करनी होगी जानकारी High Court will seize the records of 23 nursing colleges

Edited By: , September 23, 2022 / 09:30 AM IST

seize records of nursing colleges: ग्वालियर। हाई कोर्ट की युगल पीठ में गुरुवार को नर्सिंग कॉलेज के उस मामले की सुनवाई होगी, जिसमें नर्सिंग कॉलेजों ने विद्यार्थियों की परीक्षा कराकर रिजल्ट घोषित करने की मांग की है। मध्य प्रदेश नर्सिंग काउंसिल को कॉलेजों को दी गई मान्यता की जानकारी पेश करनी होगी। किन-किन आधारों पर कॉलेजों को मान्यता दी गई है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद अंचल के 23 नर्सिंग कॉलेजों का रिकॉर्ड जब्त किया जायेगा। हाईकोर्ट में पेश किये जाने वाले दस्तावेजों में नर्सिंग कॉलेज संचालित करने का आरोप लगा है।

Read more: चीतों के बाद अब घड़ियाल की बारी! पर्यटकों की बढ़ी उम्मीद, तैयार किया जा रहा नया टूरिज्म कॉरिडोर 

seize records of nursing colleges: बता दें कि सत्र 2019-20 में अंचल की नर्सिंग कॉलेजों में एमएससी व पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग में प्रवेश हुए थे। जिन विद्यार्थियों ने समय पर प्रवेश लिया, उनके दस्तावेज कॉलेजों ने मेडिकल विश्वविद्यालय दस्तावेज भेज दिए। जब इस सत्र की परीक्षा का समय आया तो कोविड-19 का संक्रमण आ गया। जनरल प्रमोशन के आधार पर पास किया गया।

इसी बीच मेडिकल यूनिवर्सिटी ने एसे विद्यार्थियों के लिए लिंक खोली कि जो एनरोल हो चुके हैं। वह अपने दस्तावेजों की पूर्ति कर सकते हैं। लिंक खुलने पर कॉलेजों ने नए विद्यार्थी जोड़ दिए। जिनकी सीटें खाली थी, उन्हें भर लिया। यह मामला विश्वविद्यालय के संज्ञान में आ गया। जो विद्यार्थी नए जोड़ गए थे, उनकी जांच की तो कई गड़बड़ी मिली। बढ़े हुए विद्यार्थियों को एनरोल करने से मना कर दिया। 36 कॉलेजों ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की है जिनमें 23 नर्सिंग कॉलेजों का रिकॉर्ड जब्त किया जायेगा।

Read more: देश भर के साधु संत की आज होगी सम-आराधना सभा, पढ़ी जाएगी शंकराचार्य सरस्वती की वसीयत 

seize records of nursing colleges: इन कॉलेजों में करीब 400 विद्यार्थी के प्रवेश हुए थे, जिनका प्रवेश पर विवाद चल रहा है। कोर्ट ने मूल रिकार्ड तलब किया था। इन कॉलेज के विद्यार्थियों का मूल रिकार्ड पेशकर दिया गया। अब कोर्ट ने कुलपति व कुलसचिवों की जानकारी के साथ अब नामांकन की भी जानकारी मांगी है। चरक इंस्टीट्यूट व नर्सिंग कॉलेज सहित 36 कालेजों ने याचिकाएं दायर की हैं। सभी याचिकाओं को हाई कोर्ट में एक साथ सुना जा रहा है, जिसके बाद हाई कोर्ट के आदेश पर नर्सिंग कॉलेजों का रिकॉर्ड जब्त होगा।

और भी है बड़ी खबरें…