Electricity employees opened a front against the government - said if they

बिजली कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा – कहा बात नहीं मानी तो दिसंबर में हो जाएगा अंधेरा

Electricity employees opened a front against the government - said if they don't listen then it will be dark in December

Edited By: , November 29, 2022 / 08:31 PM IST

electricity employess on strick; भोपाल ; मध्यप्रदेश की बिजली व्यवस्था को संचालित करने वाले कर्मचारियों की मांगो को अनदेखा करना सरकार को भरी पड़ सकता है। रबी के सीजन में जब बिजली की डिमांड ज्यादा है किसान इस वक्त सिचाई के लिए पर्यापत बिजली की मांग कर रहा है। तो वही बिजलीकर्मचारी भी सरकार पर अपनी मांगो को पूरी करने के लिए दबाव बनाने में लगे है। प्रदेश के हजारो बिजली कर्मचारियों ने अपनी 15 सूत्रीय मांगो को लेकर आज राजधानी के बिजली नगर में धरना प्रदर्शन किया, रैली निकाली ..अधिकारी कर्मचारियों ने बिजली सेक्टर बचाओ, भारत बचाओ नारे के साथ प्रदर्शन किया।

यह भी पढ़े; शादी के बाद भी नहीं बदला टीवी की इस नागिन का अंदाज, बेड पर दिखाया अबतक का सबसे हॉट लुक

दिसंबर में महा-आंदोलन करने की चेतावनी

electricity employess on strick; इसके साथ ही 15 सूत्रीय मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों ने मांगे पूरी नही होने पर दिसंबर में महा-आंदोलन की चेतावनी दी है। वही इस बारे में जानकारी देते हुए बिजली कर्मचारियों ने कहा है कि कई बार अपनी मांगो को लेकर सरकार के सामने धरना प्रदर्शन कर चुके है, सद्बुद्धि यज्ञ कर चुके है, मुख्यमंत्री को पत्र लिख चुके है, ऊर्जा मंत्री से मिल चुके है लेकिन हर बार सरकार आश्वासन देती है इसलिए अब हम सिर्फ मांग पूरी होने पर ही मानेंगे मांग पूरी नहीं होती है तो दिसंबर में पूर्ण रूप से काम का बहिष्कार कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे। कर्मचारियों ने इस दौरान प्रदेश में ब्लैकआउट की स्थिति बनने की चेतावनी दी है।

यह भी पढ़े; दिल्ली उच्च न्यायालय ने धन शोधन मामले में प्रीति चंद्रा की जमानत याचिका पर ईडी का रुख जानना चाहा

जानें क्या है मांगें

electricity employess on strick; बिजली कर्मचारी पिछले एक साल से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रही है लेकिन सरकार सुन नहीं रही है। बता दें कि कर्मचारियों की मांगो में प्रमुख रूप से विद्युत संविदा नियमितीकरण- गुजरात प्लान लागू करने की मांग- पावर सेक्टर में निजीकरण प्रक्रिया को रद्द किया जाए- पुरानी पेंशन बहाली – बिजली आउट सोर्स कर्मचारियों का संविलियन और वेतन वृद्धि-मेडिकल क्लेम पॉलिसी लागू की जाए-अनुकंपा नियुक्तियों के प्रकरणों का निराकरण करते हुए नियुक्तियां-सभी वर्गों का प्रमोशन-बिजली पेंशनरों आश्रित को महंगाई भत्ता 38% दिया जाए।