पूर्व CM कमलनाथ का बयान, पिछड़ा वर्ग के साथ हुआ घोर अन्याय, 23 जगहों पर नहीं हुआ एक भी ओबीसी आरक्षण |

पूर्व CM कमलनाथ का बयान, पिछड़ा वर्ग के साथ हुआ घोर अन्याय, 23 जगहों पर नहीं हुआ एक भी ओबीसी आरक्षण

पूर्व ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आदिवासियों के इलाके में कार्यक्रम किए जा रहे हैं और उनके पैसों की बर्बादी हो रही है। Former CM Kamal Nath's statement, gross injustice done to backward classes

Edited By: , May 29, 2022 / 04:16 PM IST

Former CM Kamal Nath’s statement: भोपाल। पूर्व CM कमलनाथ ने कहा है कि पिछड़ा वर्ग के साथ घोर अन्याय हुआ है। चुनाव कराने के पहले के वीडियो को सुना जाए तो हजार बहाने मिल जाएंगे, इन्होंने मजबूरी में प्रस्ताव पास किया है। यह प्रस्ताव इनकी मर्जी के खिलाफ है। पूर्व सीएम ने कहा कि 23 ऐसे स्थान हैं जहां एक भी ओबीसी वर्ग का आरक्षण नहीं हुआ है। यह अपनी होर्डिंग लगाकर बधाई देने में पैसे खर्च कर रहे हैं।

पूर्व ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आदिवासियों के इलाके में कार्यक्रम किए जा रहे हैं और उनके पैसों की बर्बादी हो रही है। पंचायत चुनाव इनडायरेक्ट इसलिए करवा रहे हैं कि जो पार्षद चुनकर आएंगे दबाव बनाया जाएगा। इनके पास पुलिस पैसा और प्रशासन ही बचा है।

read more: coal crisis : इस प्रदेश के थर्मल पॉवर प्लांट में सिर्फ 7 दिन का ही बचा कोयला, 3 हजार करोड़ की रुकी खरीदारी, मचा हाहाकार

Former CM Kamal Nath’s statement: कमलनाथ ने कहा कि सीमांकन का मुद्दा को लेकर कोर्ट गए थे । जहां 50 फीसदी ओबीसी वर्ग है वहां संविधान में संशोधन किया जा सकता है। हमने विधानसभा सत्र बुलाने की भी बात कही है। यह सुप्रीम कोर्ट गए और यह परिणाम आये। उन्होंने कहा कि भाजपा ओबीसी वर्ग को गुमराह कर रही है।

read more:फुल्की खाने से 150 लोग बीमार, 80 को अस्पताल में कराया भर्ती, मौके पर पहुंचे मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते

पूर्व CM कमलनाथ ने विवेक तंखा पर वीडी शर्मा के बयान पर बोलते हुए कहा कि वो क्यों चिंता कर रहे हैं, उनकी सूची में क्या है देखेंगे, विवेक तंखा ने पार्टी की सेवा की है। रिवाज रहा है कि 2 बार मौका दिया जाना चाहिए, उनका 1 कार्यकाल और बाकी है। दिग्विजय सरकार में अटर्नी जनरल रहे हैं।
सीएम तो घोषणाएं करते रहते हैं। जहां नदी न हो वहां पुल की घोषणा कर दें।

 

#HarGharTiranga