फुल्की खाने से 150 लोग बीमार, 80 को अस्पताल में कराया भर्ती, मौके पर पहुंचे मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते

150 people sick food poisoning : बाकी 15 से 20 लोगों को मोहगांव स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है

Edited By: , May 29, 2022 / 07:09 AM IST

मंडला। 150 people sick food poisoning  : जिले के मोहगांव थानांतर्गत सिंगारपुर में फूड पॉइजनिंग के कारण लगभग 100 से 150 लोगों के तबियत खराब हो गई है। जिसमें बच्चे बुजुर्ग और जवान फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुए हैं। करीब 70 से 80 मरीजों को एम्बुलेंस और अन्य वाहनों से जिला अस्पताल लाया गया है। बाकी 15 से 20 लोगों को मोहगांव स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें: ‘2023 में छत्तीसगढ़ में बनेगी भाजपा की सरकार’ कार्यसमिति की बैठक के बाद पूर्व सीएम रमन सिंह ने कही ये बात

इन मरीजों में बड़ी संख्या में बच्चे शामिल हैं। बड़ी संख्या में बढ़ते मरीजों को देख पूरा जिला प्रशासन मौके पर पहुंच गया। आस-पास के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के मौके पर डाक्टर पहुंच गए और मरीजों का ट्रीटमेंट करना शुरू कर दिया। जानकारी लगते ही मंडला कलेक्टर, केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह और निवास विधायक डाक्टर अशोक मर्सकोले मौके पर पहुंचे।

उन्होंने स्थितियों का जायजा लिया। बताया जा रहा है कि जिला मुख्यालय से लगभग 40 किमी दूर सिंगारपुर में शनिवार को हाट बाजार थी, जहां आस पास के गांव से लोग रोज मर्रा की वस्तुओं की खरीदी करने बड़ी संख्या में पंहुचे थे। इस दौरान लोगों ने वहां एक दुकान से फुल्की खा ली। जिसके कारण देर रात उन्हें उल्टियां होने लगी।

यह भी पढ़ें:  कांग्रेस की ​शिकायत के बाद रद्द हुआ नगर निगम का आरक्षण, नहीं किया गया था रोटेशनल आरक्षण का पालन

शुरुआत में उन्हें मोहगांव स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जब संख्या बढ़ने लगी तो उन्हें जिला चिकित्सालय भेज दिया गया है। ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने सिंगारपुर बाजार में फुल्की (गुपचुप) खाई थी। जिसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ने लगी।

150 people sick food poisoning :  लोगों की तबियत बिगड़ते देख ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को सूचना दी। जिसके बाद प्रशासन सक्रिय हो गया और एम्बुलेंस औऱ अन्य वाहनों से उन्हें चिकित्सालय लाया गया और तुरन्त उपचार प्रारम्भ किया गया। डॉक्टरों ने ग्रामीणों की तबियत बिगड़ने का कारण फ़ूड पॉइजनिंग बताया है। उनका कहना है कि ज्यादातर लोगों को हल्का इंफेक्शन है, एक-दो बच्चों को गंभीर इंफेक्शन नजर आ रहा जिनका इलाज किया जा रहा है।