बूस्टर डोज नहीं लगवाने वाले सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगा वेतन, डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ को भी चेतावनी, यहां आदेश जारी

वैक्सीन की बूस्टर डोज की खुराक लेने को लेकर अब मध्यप्रदेश में सख्ती बरती जा रही है

: , January 24, 2022 / 11:05 AM IST

इंदौर। Strictness regarding applying booster dose : कोरोना के खिलाफ जंग में वैक्सीन ही सबसे बड़ा हथियार है। इसी को ध्यान में रखकर देश में जोर-शोर से कोरोना वैक्सीनेशन किया जा रहा है। साथ ही लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है। बीच कोरोना के नए वेरिएंट के खतरे के बीच देश में वैक्सीन की बूस्टर डोज पर भी जोर दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:  ‘हर हाल में ऑफलाइन मोड पर ही होगी परीक्षाएं…बांटी नहीं जा सकती डिग्रीयां’ उच्च शिक्षा मंत्री ने कही ये बात

Strictness regarding applying booster dose  :  वैक्सीन की बूस्टर डोज की खुराक लेने को लेकर अब मध्यप्रदेश में सख्ती बरती जा रही है। आर्थिक राजधानी इंदौर के कलेक्टर ने नया आदेश जारी कर बूस्टर डोज नहीं लगवाने वाले सरकारी कर्मचारियों, डॉक्टरों और नर्सिंग स्टॉफ को चेतावनी दी है।

यह भी पढ़ें:  अफ्रीकियों के सामने ढेर हुए भारतीय शेर, सीरीज 3-0 से गंवाया, डीकॉक ने खेली शानदार शतकीय पारी

अपने आदेश में कलेक्टर ने वेतन रोकने का फरमान जारी किया है। बता दें कि सरकारी कर्मचारी समेत ड्यू हो चुके डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ को बूस्टर डोज लगवाने को कहा है। गौरतलब है कि देश में वैक्सीन की तीसरी डोज 9 महीने बाद लगाई जा रही है। वहीं कहीं-कहीं बूस्टर डोज को लेकर लापरवाही भी सामने आई है।

यह भी पढ़ें: सीएम शिवराज ने किया ROB ब्रिज का लोकार्पण, कहा- रोजाना 3 लाख लोगों को होगा फायदा