Double Murder Case: पिता और बहन की हत्या कर गोवा में मौज कर रहा था युवक, इस तरह पुलिस ने दबोचा

Double Murder Case: दरअसल पूरी घटना आठ नवंबर की संयोगितागंज थाना क्षेत्र के वसुदैव कुंटुंबकम अपार्टमेंट संवाद नगर की है। यहाँ रहने वाले 76 वर्षीय पिता किशोर धामंदे और बहन रमा अरोरा की पुलिंद धामंधे ने मूसली से हमला कर हत्या की थी।

Double Murder Case: इंदौर। इंदौर में पिछले दिनों हुए दोहरे हत्याकांड के आरोपी को इंदौर पुलिस ने गोवा से गिरफ़्तार किया है। आठ नवंबर को मानसिक रोगी पुलिंद धामन्दे ने अपने पिता रिटायर्ड बैंक अधिकारी केके धामंदे और बहन रमा की मूसली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी आरोपी ने अपने पिता और तीनों बहनों से प्रताड़ित होकर इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया था।

दरअसल पूरी घटना आठ नवंबर की संयोगितागंज थाना क्षेत्र के वसुदैव कुंटुंबकम अपार्टमेंट संवाद नगर की है। यहाँ रहने वाले 76 वर्षीय पिता किशोर धामंदे और बहन रमा अरोरा की पुलिंद धामंधे ने मूसली से हमला कर हत्या की थी। दोनों के शव 8 नवंबर को फ्लैट में मिले थे। पुलिस के पहुंचने के पूर्व आरोपी पुलिंद फरार हो गया। पूरे मामले में पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर पुलिस की दो टीमें बनाकर आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी। आरोपी हत्या करने के बाद अपने पिता के एटीएम कार्ड भी साथ ले गया था पुलिस को उसके बैंक ट्रांजेक्शन से अलग अलग लोकेशन मिल रही थी।

read more: CG Chunav Result Counting: मत पेटियों की सुरक्षा बढ़ाने की मांग, भाजपा प्रत्याशियों ने कलेक्टर परिसर में की नारेबाजी

इंदौर पुलिस को पहले आरोपी की लोकेशन गुजरात के वडोदरा की मिली, जहां एक टीम पहुंची लेकिन आरोपी वहां से जा चुका था फिर दूसरी लोकेशन गोवा की मिली जहां से एटीएम से उसने पैसे निकले थे और गोवा की एक होटल में रूम लेकर फरारी काट रहा था। पुलिस को आरोपी की लोकेशन मिलते ही इंदौर पुलिस एक टीम गोवा पहुंची वह गोवा पुलिस की मदद से उसे तलाशा गया लेकिन जिस होटल में आरोपी रुका था पैसे ख़त्म हो जाने की वजह से उसे होटल का रूम ख़ाली करना पड़ा और कई दिनों तक उसने गोवा के बीच पर फरारी काटी और आखिरी में मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

read more: CG Election Result 2023 : रिजल्ट का इंतजार, जुबानी जंग सीमा पार!… नेताओं ने एक दूसरे पर किया तीखा पलटवार 

पूछताछ में आरोपी ने बताया की पिता और तीनों बहनें उसे मानसिक रोगी बोलकर प्रताड़ित करती थी जिसे वो परेशान हो गया था और उसी के चलते उसने दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया।