Guest Faculty Recruitment: प्रदेशभर लगभग 2 हजार शिक्षकों के पद खाली

प्रदेशभर में लगभग 2 हजार शिक्षकों के पद खाली, जल्द निकलने जा रहा विज्ञापन

Guest Faculty Recruitment: प्रदेशभर लगभग 2 हजार शिक्षकों के पद खाली, जल्द निकलने जा रहा विज्ञापन, बैकलाग और नियमित की भर्ती प्रक्रिया शुरू

Edited By: , September 23, 2022 / 08:10 PM IST

Guest Faculty Recruitment: इंदौर। इंदौर एजुकेशन की राजधानी होने के बाद भी शिक्षकों की कमी से जूझ रहा है। नए शैक्षणिक सत्र में भी विद्यार्थियों को अतिथि शिक्षकों के भरोसे ही पढ़ाई करनी होगी। प्रदेश की एक मात्र ए प्लस यूनिवर्सिटी डीएवीवी में 28 विभागों में 190 पद रिक्त है,जिसे सालों से अब तक भरा नहीं गया है। 2009 के बाद विश्वविद्यालय ने बीते साल बैकलाग पदों से भर्तियां अब तक शुरू नहीं की है।

ये भी पढ़ें- आ गया अब तक का सबसे धांसू प्लान, मात्र इतने रुपए में एक साल तक एक्टिव रहेगी सिम, साथ ही मिलेगी कॉलिंग और डेटा

इन विभागों में पद खाली

Guest Faculty Recruitment: इधर उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी कालेजों में रिक्त पदों पर अतिथि विद्वान रखने का दोबारा फैसला किया है। विभाग ने प्रक्रिया शुरू करते हुए उम्मीदवारों से आवेदन मांगे हैं। दरअसल, बैकलाग और नियमित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया लम्बे समय से अटकी हुई है। केवल अतिथि विद्वानों और विजिटिंग शिक्षकों के माध्यम से ही कॉलेज विद्यार्थियों को शिक्षा प्रदान कर रहे है। विवि में ही अतिथि विद्वान अलग-अलग विभागों में है, शिक्षकों की कमी झेल रहे विश्वविद्यालय के 15 विभागों ने विजिटिंग फैकल्टी की भर्तियां की है। समें डाटा साइंस, फिजिकल एजुकेशन, इंस्टूमेंटेशन, इकानोमिक्स, पत्रकारिता, ईएमआरसी, एनर्जी, आइएमएस, आइआइपीएस, दीन दयाल उपाध्याय केंद्र, बायोटेक्नोलॉजी, फिजिक्स, सोशल साइंस, लाइफलाग लर्निंग शामिल है।

ये भी पढ़ें- पर्सनल फोटो और वीडियो के साथ अपना फोन बेच रही ये मॉडल, खरीदने के लिए लोगों में मची होड़, आप भी लगा सकते हैं बोली

जल्द निकाले जाएंगे विज्ञापन

Guest Faculty Recruitment: रजिस्ट्रार अनिल शर्मा ने कहा कि बैकलाग और नियमित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। 100 से ज्यादा शिक्षकों के लिए विज्ञापन निकाले जाएंगे। वहीं उच्च शिक्षा विभाग के एडी डॉ.सिलावट ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी कालेजों में रिक्त पदों पर अतिथि विद्वान रखने का फैसला लिया है, इसके लिए प्रिंसिपल्स को अपने कॉलेज का स्टेटस साझा करना होगा और ज़रूरत के हिसाब से अतिथि विद्वान प्रदान किए जाएंगे। बता दें आवेदनों के आधार पर शिक्षकों की वरीयता सूची बनेगी और 4 अक्टूबर को कॉलेज आवंटित किए जाएंगे। प्रदेशभर में 1386 सरकारी कॉलेजों में 800 से अधिक शिक्षकों के पद खाली हैं।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें